प्रयागराज पुलिस ने अफवाहों की सूचना इन नबंरों पर देने के लिए कहा, साथ ही दी ये चेतावनी

Prayagraj News Hindi | Up News in Hindi | Up Crime News
प्रयागराज पुलिस ने अफवाहों की सूचना इन नबंरों पर देने के लिए कहा, साथ ही दी ये चेतावनी
सांकेतिक तस्वीर.फोटो: प्रयागराज पुलिस/ ट्विटर

भारतीय जनता पार्टी (BJP) की निलंबित प्रवक्ता नुपुर शर्मा द्वारा एक टीवी बहस के दौरान पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ कथित विवादास्पद टिप्पणी को लेकर उपजे विवाद के बाद प्रयागराज पुलिस सख्त हो गई है. बता दें कि प्रयागराज पुलिस भड़काऊ पोस्ट लिखने और फॉरवर्ड करने के संबंध में प्रयागराज पुलिस (Prayagraj Police) ने लोगों से अपील की है. पुलिस ने कहा है कि 'भड़काऊ सोशल मीडिया पोस्ट करने वालों, भड़काऊ वीडियो बयान जारी करने वालों और साजिश रच कर माहौल खराब करने की कोशिश करने वालों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा.'

मौकापरस्तों से रहें सावधान: प्रयागराज पुलिस

पुलिस ने कहा है, "कुछ मुट्ठी भर मौकापरस्त लोगों के द्वारा अमन ओ अमान खराब कर अपने स्वार्थ की रोटियां सेंकने वाले लोगों के द्वारा सोशल मीडिया (वॉट्सऐप, फेसबुक, ट्विटर आदि) का सहारा लेकर तमाम तरह की अफवाहें फैलाने की कोशिशें मुसलसल जारी हैं, जिस पर पैनी नजर रखी जा रही है. ऐसे शातिर लोगों पर मुकदमे भी दर्ज किए जा रहे हैं, चाहे वे किसी भी दल, बल या संगठन से ताल्लुक रखते हों."

'सावधान आप की निगरानी की जा रही है'

पुलिस के मुताबिक, "हर छोटी-बड़ी सोशल मीडिया पोस्ट को 72 लोगों की तेज तर्रार टीम द्वारा ऑन रिकॉर्ड लिया जा रहा है, ताकि समय आने पर उसे सबूत की तरह इस्तेमाल किया जा सके."

अफवाहों की सूचना इन नंबरों पर दें

पुलिस ने कहा है, "जिले के लोगों से पुरजोर अपील की जाती है कि वे किसी भी अफवाह पर ध्यान ना दें. अलबत्ता, हर अफवाह की इत्तला पुलिस के मोबाइल नंबरों (9454402863, 9454400248, 8941001786) पर दें ताकि फौरन मुकम्मल और कड़ा ऐक्शन लिया जा सके.

'किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा'

पुलिस ने लोगों से अपील कर कहा है, "आपको बाखबर करना है कि आप में से किसी को भी कानून अपने हाथ में लेने की कतई जरूरत नहीं है, इसमें आपका ही नुकसान होगा. यकीन रखिए आपकी इत्तिला पर फौरन पुलिस प्रशासन चुस्ती और मुस्तैदी से अपना काम करेगी. हम वायदा करते हैं कि पुलिस की हर कार्रवाई बिना किसी भेदभाव के अमल में लाई जाएगी. किसी भी दोषी को किसी भी सूरत में कतई बख्शा नहीं जाएगा."

पुलिस ने बताया है कि वीडियो फुटेज और सीसीटीवी फुटेज में संदिग्ध दिखने वाले हर शख्स से पूछताछ की जाएगी. परन्तु गिरफ्तारी उसी की होगी जिसका दोष पाया जाएगा, और जिसने पथराव और आगजनी में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया होगा.

सांकेतिक तस्वीर.
प्रयागराज हिंसा मामले पर अखिलेश बोले- 'बीजेपी के बुल्डोजर को संविधान और कानून ही रोकेगा'

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in