प्रयागराज: उपद्रवियों से होगी 1 करोड़ की वसूली, लोगों से भी मांगा गया नुकसान का एस्टिमेट

उपद्रवियों द्वारा फूंकी गई बाइक.
उपद्रवियों द्वारा फूंकी गई बाइक.फोटो: पंकज श्रीवास्तव, यूपी तक

जुमे की नमाज के बाद हुए बवाल और आगजनी की घटना को अंजाम देने वाले उपद्रवियों से अब हुए नुकसान की भरपाई की जाएगी. वो भी लाख दो लाख नही बल्कि पूरे करोड़. इसके लिए तीन दावे सामने आए हैं. प्रयागराज में पहली बार नगर निगम और पुलिस महकमे की तरफ से नुकसान की भरपाई का क्लेम किया गया है. इस क्लेम की भरपाई के लिए चिन्हित होने वाले उपद्रवियों के बैंक खाते और संपत्तियां सीज की जा रही हैं. वहीं प्रशासन के मुताबिक लोग अपने नुकसान का एस्टीमेट दे सकते हैं.

अहम बिंदु

पहला दावा नगर निगम की तरफ से पेश किया गया है. स्मार्ट सिटी के तहत लगाए गए सीसीटीवी कैमरों को तोड़े जाने और केबल को नुकसान पहुंचाए जाने की भरपाई कराए जाने की अपील की गई है.

दूसरा दावा पीएसी के सेनानायक की तरफ से पेश किया गया है. पीएसी की एक ट्रक को जलाए जाने के मामले में क्षतिपूर्ति कराए जाने का दावा किया गया है.

तीसरा दावा प्रयागराज पुलिस की तरफ से पेश किया गया है. इसमें चार बाइक जलाने और 10 हजार पुलिस पीएसी के जवानों को 6 दिन तक तैनात रखने का भी है.

अब उपद्रवियों से हुए नुकसान की भरपाई भी कराई जाएगी. गौरतलब है फिर 10 जून को जुमे की नमाज के बाद अटाला इलाके में जमकर बवाल, पत्थरबाजी और आगजनी हुई थी. जिसमें कई पुलिस के जवान और कुछ पत्रकार भी घायल हुए थे. करीब 3 घंटे लगातार रुक-रुककर पत्थरबाज पुलिस पर पथराव कर रहे थे.

इसमें अब तक पुलिस ने 97 उपद्रवियों को गिरफ्तार किया है और 5000 से ज्यादा अज्ञात पर मामला दर्ज किया है. जानकारी के मुताबिक करीब 30 गाड़ियों में तोड़फोड़ की गई थी और कुछ में आग लगाई गई थी.

पुलिस ने उपद्रवियों के पोस्टर सड़कों गलियों पर चस्पा कर दिए हैं. जिससे उन उपद्रवियों की पहचान कराई जा सके और उनकी जल्द गिरफ्तारी कराई जा सके. पुलिस ने 17 जून को होने वाली जुमे की नमाज को देखते हुए सारी तैयारियां कर ली हैं. आरएएफ के जवान पुलिस और पीएसी मुस्तैद हैं. पुलिस प्रशासन ने एक बार फिर धर्म गुरुओं के साथ बैठक कर उनसे शांति की अपील की है. वहीं धर्मगुरुओं ने भी शहर में शांति का आश्वासन दिया है.

उपद्रवियों द्वारा फूंकी गई बाइक.
प्रयागराज हिंसा के 59 आरोपियों के पुलिस ने सोशल मीडिया पर जारी किए पोस्टर, दी ये चेतावनी

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in