window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

'तुम मेरी गुलाम बन कर रहो'...बांदा में विवाहिता ने कही पढ़ाई करने की बात तो पति ने सुनाई खरी खोटी

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Banda News: कभी-कभार ऐसे मामले सामने आ जाते हैं, जो लोगों के होश उड़ा कर रख देते हैं. ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के बांदा जिले से सामने आया है. यहां एक पति ने अपनी पत्नी से कहा 'तुम घर में मेरी गुलाम बन कर रहो, तुम्हें पढ़ाई लिखाई करने की कोई जरूरत नहीं है.' इसके बाद दोनों में बात बिगड़ गई. जानकारी के मुताबिक रिश्तेदारों ने मिल बैठकर समझौता कराने का प्रयास किया, लेकिन फिर भी पति के रवैये में बदलाव नहीं आया. इसके बाद पत्नी ने थाने जाकर पति और ससुराल पक्ष के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया है. 

पत्नी को पढ़ाई नहीं करने देना चाहता है पति

दरअसल यह पूरा मामला उत्तर प्रदेश के बांदा जिले के कोतवाली क्षेत्र का है. यहां एक महिला शादी के बाद अपनी पढ़ाई जारी रखना चाहती थी. वह अपने मायके से ढेर सारी किताबें ले आई थी. वह घर के कामकाज के साथ बाकी समय अपनी पढ़ाई को देकर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करना चाहती थी. मगर उसके पति को यह बात ठीक नहीं लगती थी. उसके पति ने कहा कि 'तुम्हें पढ़ाई करने की कोई जरूरत नहीं है. घर में रहो. जैसे एक पत्नी घर में रहती है, सब की सेवा करती है और घर में मेरी गुलाम बन के रहो.'
 
बता दें कि दोनों की शादी दिसंबर 2022 में हिन्दू रीति रिवाज से हुई थी. खबर के अनुसार, पति और ससुरालीजनों ने शादी के बाद आगे पढ़ाई कराने की बात कही थी. मगर ससुराल पहुंचने पर उन्होंने मना कर दिया. साथ ही उसको गालियां भी दीं. जानकारी के मुताबिक, नवविवाहिता सदमे में हैं और गर्भवती भी है.

समझाने का भी नहीं हुआ कोई असर

पत्नी ने जब यह बात अपने मायके वालों को बताई, तो वे नाते रिश्तेदारों को लेकर उसके घर पहुंच गए. पति और उसके माता-पिता को तमाम रिश्तेदारों के बीच बातचीत के जरिए मामला सुलझाने का प्रयास किया गया. लोगों का कहना था कि अगर पत्नी पढ़ना चाहती है तो उसे जरूर पढ़ना चाहिए. अगर वह कामयाब होती है तो घर की आर्थिक स्थिति यह बेहतर हो जाएगी. लेकिन यह सब बात पति के दिमाग में नहीं उतरी. वह अपनी जिद पर अड़ा रहा. उसने कहा कि वह पत्नी को पढ़ने नहीं देना चाहता. वह घर में गुलाम की तरह रहे. यही बात पत्नी को चुभ गई. 

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

पत्नी ने बताया पुलिस को सारा सच 

समझौते के बाद जब यह बात नहीं बनी तो पत्नी एप्लीकेशन लेकर थाने पहुंच गई. यहां पुलिस को जब पूरा मामला बताया गया तो पुलिस भी हैरान रह गई. पुलिस ने पति को बुलाया और उसे समझाने का प्रयास किया, लेकिन बात नहीं बनी. इसके बाद पुलिस ने मामले में पति समेत ससुराल पक्ष के पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी है. जानकारी के मुताबिक महिला थाना प्रभारी मोनी निषाद मामले में जांच करके आगे की कानूनी कार्रवाई करने में जुटी हुई हैं.

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT