window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

गाजियाबाद: कार में AC चलाकर सोया था कैब ड्राइवर, लोकेशन ट्रैक कर पहुंचा मालिक तो नजारा देख रह गया हैरान

मयंक गौड़

ADVERTISEMENT

Ghaziabad News
Ghaziabad News
social share
google news

Ghaziabad News : उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एक हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है. यहां भीषण गर्मी के कारण एक कैब चालक की जान चली गई. दरअसल, भीषण गर्मी में लोग हादसों का भी शिकार हो रहे हैं. इंदिरापुरम के प्रह्लादगढ़ी में गर्मी से परेशान एक व्यक्ति रात में एसी चलाकर कार में सो गया था. सुबह वह मृत हालत में मिला. प्रह्लादगढ़ी में बंद कार में एक व्यक्ति का शव मिलने से हड़कंप मच गया. 

कार में AC चलाकर सोया था कैब ड्राइव

शुरुआती जांच में सामने आया कि चालक कार में एसी चलाकर सोया था और पेट्रोल खत्म होने के बाद कार बंद हो गई. कार मालिक के पहुंचने के बाद इस बारे में जानकारी हुई. मौके पर पहुंची पुलिस ने कार का शीशा तोड़कर उसे बाहर निकाला और अस्पताल लेकर गए. डॉक्टरों ने उसे मृत बताया.

भीषण गर्मी से लोगों का हाल बेहाल

बता दें कि गाजियाबाद में बढ़ती गर्मी ने लोगों का जीना मुहाल किया हुआ है. एक तरफ जहां बढ़ती गर्मी से लोगो के बीमार होने की घटनाओं में इजाफा हुआ है, वहीं आग लगने की घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है.वहीं सोमवार को गाजियाबाद में भीषण गर्मी से बचने के लिए कार का एसी चलाकर कार की सीट पर सो रहे शख्स की मौत हो जाने की घटना सामने आई है.  पुलिस के मुताबिक कार का पेट्रोल खत्म हो गया था.  आशंका जताई जा रही है कि कार के अंदर दम घुटने से करीब 36 वर्षीय कार चालक कल्लू की मौत हो गई. मृतक कार चालक कल्लू मूल रूप से यूपी के हमीरपुर इलाके का रहने वाला था और बीते करीब डेढ़ माह से कृष्णा विहार निवासी अमलेश कुमार पांडेय की कैब को चला रहा था. 

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

कार मालिक के उड़े होश

कार मालिक अमलेश से मिली जानकारी के अनुसार कार चालक कल्लू प्रहलाद गढ़ी की रेड लाइट के पास कार का एसी चलाकर उसी के अंदर सो गया था.  सुबह जब कल्लू ने अपना फोन रिसीव नहीं किया तो वो कार की लोकेशन पर पहुंचे और कल्लू को जगाने का प्रयास किया. लेकिन कल्लू के न जागने पर कार का शीशा तोड़कर उन्होंने लोगों की मदद से कल्लू को कार के बाहर निकाला. कार चालक को पास के अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया.

बता दें कि ऐसी घटनाओं को लेकर चिकित्सक मानते हैं कि जब कार का शीशा बंद कर एसी चलाया जाता है तो कार के अंदर ऑक्सीजन की कमी हो जाती है और कार्बन मोनो ऑक्साइड गैस कार में जमा हो जाती है . जो जहरीली गैस होती है और इस तरह की घटनाओं की वजह बन जाती हैं. 
 

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT