window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

ICU में मौलवी ने पढ़ा 2 लड़कियों का निकाह, लखनऊ से आए इस भावुक केस की पूरी कहानी जानें

यूपी तक

ADVERTISEMENT

Lucknow
Lucknow
social share
google news

Lucknow: लखनऊ के एक अस्पताल के आईसीयू वार्ड में अनोखा निकाह हुआ. यहां एक शख्स अस्पताल के आईसीयू में एडमिट था. उसके सामने ही उसकी दोनों बेटियों का निकाह आईसीयू में ही हुआ. अब इस निकाह की पूरे देश में चर्चा की जा रही है. दरअसल ये पूरी की पूरी कहानी बड़ी इमोशनल है.

दरअसल ये पूरा मामला उत्तर प्रदेश के लखनऊ का है. यहां रहने वाले मोहम्मद इकबाल आईसीयू में एडमिट हैं. उनकी सेहत लगातार खराब हो रही है. उनकी इच्छा थी कि उनकी दोनों बेटियों का निकाह उनके सामने ही हो. दोनों बेटियों के निकाह की तारीख करीब आ रही थी. मगर इकबाल की सेहत में कोई खास फर्क नहीं पड़ रहा था. पिता की हालत देख दोनों बेटियों ने परिवार से साफ कह दिया कि अगर पिता नहीं रहेंगे तो वह कभी निकाह नहीं करेंगी.

ऐसे में परिवार और आईसीयू में एडमिट मरीज ने डॉक्टरों से एक ऐसी अपील की, जिसे सुन डॉक्टर भी हैरान रह गए. मगर आखिरकार डॉक्टरों ने इस परिवार की हालत को समझा और फिर जो हुआ, आज उसकी चर्चा पूरे देश में की जा रही है.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

मौलवी ने आईसीयू में जाकर पढ़वाया निकाह  

बता दें कि अस्पताल में निकाह करने के लिए परिजनों ने एरा मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर से बात की. परिवार ने उनको पूरी समस्या के बारे में बताया. यहां तक की खुद मरीज ने भी डॉक्टरों से बेटियों की शादी आईसीयू में करवाने की परमिशन मांगी. मरीज की सेहत की हालत देख और परिवार की परेशानी देख, डॉक्टरों ने भी आईसीयू में निकाह की इजाजत दे दी.

बता दें कि मोहम्मद इकबाल जिस आईसीयू वार्ड में एडमिट हैं, उसी में दोनों बेटियों को अपने-अपने होने वाले पतियों के साथ बुलाया गया. फिर मौलाना को भी निकाह पढ़वाने के लिए बुलाया गया. बता दें कि जब मौलवी आईसीयू वोर्ड में निकाह पढ़वा रहा था, उस समय अस्पताल के डॉक्टर्स भी वहां मौजूद थे. 

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT