UP बोर्ड 12वीं की परीक्षा में बाराबंकी के बेटों ने बढ़ाया जिले का मान, संर्घष से पाई सफलता

UP बोर्ड 12वीं की परीक्षा में बाराबंकी के बेटों ने बढ़ाया जिले का मान, संर्घष से पाई सफलता
योगेश, अभिमन्यु और प्रवीण (लेफ्ट से राइट)फोटो कोलाज: यूपी तक

शनिवार, 18 जून को यूपी बोर्ड इंटरमीडिएट एग्जाम के रिजल्ट घोषित किए गए. इसमें बाराबंकी के 3 बेटों ने शानदार अंक हासिल किए हैं. उन्होंने अपनी सफलता से जिले का मान बढ़ाया है. जिले के रहने वाले योगेश प्रताप सिंह ने 95 फीसदी अंक प्राप्त कर पूरे प्रदेश में दूसरा स्थान हासिल किया है. इसके अलावा जिले के ही अभिमन्यु वर्मा ने 94 प्रतिशत अंक हासिल कर तीसरी रैंक प्राप्त की है, जबकि प्रवीण कुमार ने 93.40 फीसदी अंक हासिल कर 6वीं रैंक पाई है. बता दें कि ये दोनों छात्र श्री साईं कॉलेज में पढ़ने वाले हैं.

'विषम परिस्थितियों में भी रोज 5 से 6 घंटे पढ़ाई की'

योगेश ने अपनी सफलता का श्रेय अपने परिवार में खास तौर से भाई-बहनों के सहयोग को दिया. साथ ही अपने टीचरों को भी अपने कामयाबी के पीछे खास भूमिका में माना. उन्होंने बताया कि इस रिजल्ट के लिए उन्होंने परिवार और कोविड से जुड़ी विषम परिस्थितियों में भी रोज 5 से 6 घंटे पढ़ाई की.

करियर के बारे में बात करते हुए योगेश ने कहा कि वह आईएएस की तैयारी पर फोकस कर रहे हैं और ब्यूरोक्रेसी में जाकर देश की सेवा करना चाहते हैं.

किसान के बेटे ने किया टॉप, मिला चौथा स्थान

यूपी बोर्ड 12वीं की परीक्षा में पूरे यूपी में तीसरी रैंक पाने वाले अभिमन्यु वर्मा ने बताया कि वह नीट की तैयारी करेंगे और उनका डॉक्टर बनने का सपना है. अभिमन्यु के पिता किसान हैं और मां गृहणी हैं. अभिमन्यु ने कहा कि मैं इस कामयाबी का श्रेय अपने शिक्षकों और घरवालों को देता हूं.

'रटने की बजाय समझने की कोशिश की'

यूपी बोर्ड 12वीं की परीक्षा में 6वीं रैंक पाने वाले प्रवीण ने बताया कि उनके पिता धर्मानंद गांव के ही प्राथमिक विद्यालय में शिक्षामित्र हैं. प्रवीण ने बताया कि रामसनेहीघाट के मालिनपुर के एक कॉलेज से हाईस्कूल में 92 प्रतिशत अंक पाने के बाद माता-पिता ने शहर में ही कमरा लेकर पढ़ाई के लिए मेरा उत्साह बढ़ाया.

प्रवीण ने बताया कि उन्होंने अपने पाठ्यक्रम को रटने की बजाय समझने की कोशिश की. पढ़ाई को भार नहीं माना. रोजाना 5 से 6 घंटे पढ़ाई की. उन्होंने बताया कि वह नेशनल डिफेंस एकेडमी में जाकर सैन्य अफसर बनना चाहते हैं.

स्कूल के शिक्षक बोले- ये मेहनत टीम वर्क की है

यूपी बोर्ड के रिजल्ट में हर साल मेरिट में बने रहने वाले श्री साईं इंटर कॉलेज के प्रबंधक शिक्षक सुरेंद्र वर्मा ने बताया कि हमारे हमारी कॉलेज की टीम मिलकर होनहार छात्रों पर वर्क करती है. कोविड के दौरान भी हमारे शिक्षकों ने छात्रों की पढ़ाई पर पूरा ध्यान रखा, इसलिए हर साल की तरह इस बार भी हमारे कॉलेज के छात्र यूपी बोर्ड एग्जाम में टॉपर बने हैं.

योगेश, अभिमन्यु और प्रवीण (लेफ्ट से राइट)
यूपी बोर्ड 10वीं-12वीं की परीक्षा का रिजल्ट, टॉप 10 के मामले में लड़कियों ने मारी बाजी

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in