लालच में करियर तबाह, दूसरे की जगह NEET परीक्षा देने वाली BHU मेडिकल छात्रा मां संग अरेस्ट

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) की ओर से रविवार को NEET-UG की परीक्षा आयोजित की गई थी. इस परीक्षा को लेकर उत्तर प्रदेश के वाराणसी से एक फर्जीवाड़े का मामला सामने आया है. दरअसल, बीएचयू के बीडीएस कोर्स की सेकिंड ईयर की छात्रा जूली को हिना विश्वास नामक छात्रा की जगह पेपर देने के आरोप में क्राइम ब्रांच की टीम ने गिरफ्तार किया है. जूली के साथ परीक्षा दिलाने आई उसकी मां बबिता को भी गिरफ्तार कर लिया गया है. जूली के अलावा BHU मेडिकल के 3 और छात्र दूसरे की जगह परीक्षा देने के आरोप में जयपुर से गिरफ्तार किए गए हैं.

जूली बीएचयू छात्रावास में रहती है. पुलिस के मुताबिक, सॉल्वर गैंग का सरगना पटना का पीके नामक शख्स है.

पुलिस के अनुसार, दूसरे की जगह एग्जाम दे रही जूली को ₹5 लाख मिलने थे और एडवांस में ₹50,000 दिए गए थे. क्राइम ब्रांच की टीम अन्य आरोपियों को पकड़ने के लिए बिहार और लखनऊ में जांच कर रही है.

कौन है जूली?

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

जूली पटना के बहादुरपुर थाना क्षेत्र के संदलपुर वैष्णवी कॉलोनी की निवासी है. जूली बीएचयू के चिकित्सा विज्ञान संस्थान के फैकल्टी ऑफ डेंटल साइंसेज की 2019 बैच की टॉपर छात्रा है. जूली सेकिंड ईयर में पढ़ती है और अपने बैच में उसने सेमेस्टर टॉप किया था.

सॉल्वर गैंग ने जूली की मां को दिया था लालच

ADVERTISEMENT

सॉल्वर गैंग ने बबिता को ₹5 लाख का लालच देकर जूली को हिना विश्वास के नाम से परीक्षा देने के लिए राजी किया था. एडवांस के रूप में ₹50,000 भी दिए गए थे. आपको बता दें कि जूली के पिता मुन्ना कुमार फेरी लगा कर सब्जी बेचने का काम करते हैं.

कैसे काम करता है पटना का सॉल्वर गैंग?

ADVERTISEMENT

वाराणसी पुलिस ने मां-बेटी को जेल भेज दिया है. जिसके नाम पर जूली परीक्षा दे रही थी उस पर भी तलवार लटकी है. बीएचयू भी जूली पर अलग कार्रवाई करेगा. सॉल्वर गैंग का सरगना पटना का है, जिसे पीके के नाम से जाना जाता है. पीके पैसा लेकर दूसरे परीक्षार्थी के नाम पर परीक्षा दिलवाने के काम करता है. सॉल्वर गैंग ऐसे छात्रों की तलाश में रहते हैं जो मेधावी के साथ-साथ जरूरतमंद भी हैं. पुलिस अब पीके की तलाश में जुट गई है.

दूसरे की जगह पेपर दे रहे यूपी से ताल्लुक रखने वाले 4 छात्र जयपुर से हुए अरेस्ट.

NEET-UG की परीक्षा का पेपर लीक होने के मामले में राजस्थान के जयपुर में भी गिरफ्तारियां हुई हैं. इस मामले में पुलिस ने 4 जगह छापे मारकर 6 मेडिकल छात्रों समेत 9 लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने गिरफ्तार किए गए छात्रों से प्रश्नपत्र की आंसरशीट और दलालों के पास से ₹10 लाख भी बरामद किए हैं. गिरफ्तार किए गए 6 छात्रों में से 4 उत्तर प्रदेश से ताल्लुक रखते हैं.

1. आगरा की रहने वाली देहरादून मेडिकल कॉलेज में थर्ड ईयर की छात्रा प्राची परमार को गिरफ्तार किया गया है. प्राची जयपुर के सुबोध स्कूल में दूसरे छात्र के बदले परीक्षा दे रही थी.

2. राजस्थान के झुंझुनू का रहने वाला सांवरमल सुनार बनारस मेडिकल कॉलेज में थर्ड ईयर का छात्र है. सांवरमल LBS कॉलेज में परीक्षा दे रहा था, जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

3. बनारस मेडिकल कॉलेज में फर्स्ट ईयर का छात्र प्रवीण भंडानागौर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. प्रवीण जयपुर के भवानी निकेतन में परीक्षा दे रहा था.

4. बनारस मेडिकल कॉलेज में सेकंड ईयर के छात्र अंकित यादव को भी गिरफ्तार किया गया है. अंकित जयपुर के महावीर दिगंबर स्कूल में परीक्षा दे रहा था.

इनपुट (ब्रजेश कुमार)

‘रिश्तेदार दरोगा ने किया रेप’, गंगा में छलांग लगा युवती ने जान देने की कोशिश की

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT