गाजियाबाद: संपत्ति के लिए 20 साल से घर में ही कत्ल का आरोप, एक-एक कर 5 को मारा

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

गाजियाबाद की मुरादनगर थाना पुलिस ने एक ऐसी सीरियल किलिंग की घटना का खुलासा करने का दावा किया है जहां एक शख्स ने अपने ही परिवार के 5 सदस्यों की संपत्ति के लालच में कथित तौर पर हत्या की. कत्ल का यह सिलसिला बीते 20 साल पहले शुरू हुआ था. पुलिस ने इस मामले में अब आरोपी और उसके 2 साथियों को गिरफ्तार कर लिया है.

इस पूरे मामले में एएसपी आकाश पटेल ने बताया कि मुरादनगर थाना क्षेत्र के बसंतपुर सैंथली गांव निवासी बृजेश त्यागी ने बीते 15 सितंबर को मुरादनगर थाने में अपने बेटे रेशू त्यागी (25) के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. बताया गया था कि रेशू 8 सितंबर से लापता है. इस मामले में पुलिस ने जांच पड़ताल के बाद लापता हुए रेशू के चाचा लीलू त्यागी, हापुड़ निवासी सुरेंद्र त्यागी और संभल निवासी राहुल को गिरफ्तार किया है. सुरेंद्र यूपी पुलिस का रिटायर्ड दरोगा है जबकि राहुल रिटायर्ड दरोगा का नौकर है.

लीलू त्यागी ने पूछताछ में बताया कि उसने बड़े भाई की संपत्ति को कब्जाने की नीयत से अपने भतीजे रेशू की हत्या कर दी और शव को बुलंदशहर के पहासु थानाक्षेत्र में नहर में बहा दिया. लीलू ने पुलिस को बताया कि वह अपने साथियों के साथ रेशू को बहाने से स्कॉर्पियो गाड़ी में बैठाकर बुलंदशहर ले गया था. पहासु थानाक्षेत्र में जाकर उन्होंने रस्सी से रेशू का गला घोंट दिया और शव को नहर में बहाकर वापस लौट आए.

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, घर लौटने के बाद आरोपी लीलू अपने बड़े भाई बृजेश त्यागी के साथ मिलकर लापता भतीजे रेशू की तलाश में जुट गया. भाई ने पुलिस से शिकायत करने को कहा तो लीलू ने उसे गुमराह करने का प्रयास किया. इसके बाद बृजेश खुद ही मुरादनगर थाने पहुंचे और बेटे की गुमशुदगी दर्ज कराई और लीलू पर शक जताया.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

बृजेश से जानकारी जुटाने के दौरान पुलिस को लीलू पर शक गहराया था. इसके बाद पुलिस ने रेशू और लीलू के मोबाइल नंबरों की जांच पड़ताल की तो 8 सितंबर को दोनों की लोकेशन बुलंदशहर में मिली. बुलंदशहर पहुंचकर रेशू का मोबाइल स्विच ऑफ हो गया था. जबकि लीलू और उसके साथियों की वापसी में लोकेशन गाजियाबाद में मिली. इसके अलावा लीलू और सुरेंद्र द्वारा फोन पर की गई बातचीत की रिकॉर्डिंग भी पुलिस को मिल गई, जिसमें वह अपने ही भतीजे रेशू के हत्याकांड का जिक्र करते हुए पुलिस से बचने की रणनीति बनाते हुए सुनाई दिया. इस घटना में शामिल विक्रांत और उसका भांजा मुकेश अभी फरार हैं. पुलिस उनकी तलाश कर रही है.

पुलिस का दावा है कि आरोपी अपने परिवार की सारी संपत्ति का इकलौता मालिक बनना चाहता था. इसके लिए उसने 20 साल पहले बड़े भाई सुधीर त्यागी को मारा और फिर उसकी पत्नी से शादी कर भाई की दोनों बेटियों की हत्या की. गिरफ्तार आरोपी लीलू ने अपने दूसरे बड़े भाई बृजेश त्यागी के दोनों बेटों का कत्ल कर उनके शव भी ठिकाने लगा दिया. करीब 8 साल पहले लीलू ने ही भाई के बेटे नीशू की हत्या कर शव को हिंडन नदी में फेंक दिया और अब दूसरे भतीजे रेशू का भी कत्ल कर शव को बुलंदशहर के पहासू इलाके में नहर में फेंक दिया.

पुलिस ने आरोपियों के पास से रेशू हत्याकांड में इस्तेमाल की गई भी बरामद कर ली है.

ADVERTISEMENT

कानपुर में रेप कर युवती को 10वीं मंजिल से नीचे फेंका? पुलिस ने आरोपी को किया अरेस्ट

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT