window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

नोएडा की कोठी में मिली SC की महिला वकील की लाश, देर रात स्टोर रूम में मिला पति तो खुला केस

अरविंद ओझा

ADVERTISEMENT

UpTak
UpTak
social share
google news

Noida News: नोएडा के सेक्टर 30 की एक कोठी में मिली महिला वकील की लाश के मामले में एक बड़ा खुलासा सामने आया है. महिला की लाश मिलने के बाद पुलिस ने देर रात करीब 3 बजे कोठी के स्टोर रूम से उनके पति को पकड़ा है. पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक पति ने ही पहले अपनी पत्नी का कत्ल किया और उसके बाद घर के स्टोर रूम में ही छिपकर बैठ गया. पुलिस उसे तलाशती रही और रात करीब 3 बजे वह स्टोर रूम से बरामद हुआ. शुरुआती जांच में हत्या की वजह का भी पता चल गया है.

शुरुआत से जानिए महिला वकील की हत्या की पूरी कहानी

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट की महिला वकील रेणू सिन्हा की नोएडा सेक्टर 30 में कोठी है. रविवार को उनकी लाश कोठी से ही बरामद की गई. असल में महिला वकील की बहन उन्हें दो दिनों से फोन कर रही थीं, लेकिन वह फोन नहीं उठा रही थीं. बहन को चिंता हुई तो वह उन्हें देखने घर पहुंची. घर बंद पड़ा हुआ था. बहन को अनहोनी की आशंका हुई तो दरवाजा तोड़ा गया. 61 वर्षीय महिला वकील रेणू सिन्हा की लाश बाथरूम में पड़ी मिली. महिला वकील का शव खून से लथपथ था.

10 घंटे बाद घर की कोठी में ही छिपा मिला आरोपी पति

मृतका के परिजनों ने आरोप लगाया कि उनके पति ने ही अपनी पत्नी की हत्या की है. इसके बाद पुलिस आरोपी पति की तलाश में जुट गई. पुलिस को कहीं भी आरोपी पति अजय नाथ की कोई लोकेशन नहीं मिल रही थी. हत्यकांड के 10 घंटे बाद पुलिस ने एक बार फिर कोठी की चप्पे चप्पे पर तलाशी शुरू की. देर रात पति स्टोर रूम में छिपा मिला. स्टोर रूम का दरवाजा तोड़ा गया तो आरोपी पति अजय नाथ वहीं बैठा मिला.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

कैंसर मुक्त हो चुकी पत्नी को कोठी के लिए मार दिया?

आरोपी अजय नाथ रेवेन्य सर्विस में अधिकारी था और बाद में नौकरी छोड़ चुका था. पुलिस से पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वो कोठी को 4 करोड़ रुपए में बेंच रहा था. इसके लिए वह सामने वाली पार्टी से कुछ एडवांस पैसे भी ले चुका था, लेकिन पत्नी कोठी को बेचने नहीं दे रही थी. इसके बाद उसने अपनी पत्नी की हत्या कर दी. आपको बता दें कि महिला वकील कैंसर से पीड़ित थीं और डॉक्टरों ने इलाज के बाद करीब एक महीने पहले ही उन्हें कैंसर मुक्त घोषित किया था.

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT