अवैध धर्मांतरण केस: मौलाना कलीम सिद्दीकी से पूछताछ के बाद तीन और गिरफ्तार

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

उत्तर प्रदेश एटीएस ने बताया है कि ‘अवैध धर्मांतरण’ केस में उसने मौलाना कलीम सिद्दीकी के तीन सहयोगियों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए लोगों की पहचान मुजफ्फरनगर के मोहम्मद इदरीश कुरैशी, मोहम्मद सलीम और नासिक के कुणाल चौधरी उर्फ आतिफ के तौर पर हुई है. बताया गया है कि आरोपियों के बैंक अकाउंट में 20 करोड़ रुपये फंडिंग के सबूत मिले हैं.

जानकारी के मुताबिक, अवैध धर्मांतरण के मामले में मौलाना कलीम सिद्दीकी से पूछताछ के बाद ये तीनों गिरफ्तारी हुई हैं. तीनों गिरफ्तार आरोपी कलीम सिद्दीकी के करीबी बताए जा रहे हैं. गिरफ्तार इदरीश कुरैशी 20 सालों से कथित तौर पर कलीम सिद्दीकी के ट्रस्ट से संचालित मदरसे के लिए फंड इकट्ठा कर रहा था.

बता दें कि अवैध धर्मांतरण के मामले में पिछले दिनों यूपी एटीएस ने ग्लोबल पीस सेंटर के अध्यक्ष मौलाना कलीम सिद्दीकी को गिरफ्तार किया था. यूपी एटीएस का दावा है कि वह शैक्षणिक, सामाजिक और धार्मिक संस्थाओं के आड़ में अवैध धर्मांतरण को अंजाम देते थे, इसके लिए उन्हें विदेशों से भारी मात्रा में फंडिंग की जा रही थी. ये भी बताया गया है कि कलीम सिद्दीकी के तार अवैध धर्मांतरण के मामले में पहले से गिरफ्तार उमर गौतम से भी जुड़े हैं.

कलीम सिद्दीकी पर भारत का सबसे बड़ा अवैध धर्मांतरण सिंडिकेट चलाने का आरोप लगाया गया है. उन पर ये भी आरोप हैं कि वह गैर मुस्लिमों को गुमराह कर अवैध धर्मांतरण कराते थे, अपना ट्रस्ट चलाने के अलावा तमाम मदरसों को फंडिंग भी करते थे, इसके लिए उन्हें कथित तौर पर विदेशों से भारी धनराशि हवाला और अन्य अवैध माध्यम से भेजी जाती थी.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

मौलाना कलीम पर ‘भारत का सबसे बड़ा धर्मांतरण सिंडिकेट’ चलाने का आरोप, UP ATS ने किया अरेस्ट

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT