मुस्लिम युवाओं को आतंकी संगठन से जोड़ते थे अतीक-अशरफ? बदले में पकिस्तान से मिलता था ये इनाम

आशीष श्रीवास्तव

ADVERTISEMENT

बरेली: पेशी से डरा अतीक का भाई अशरफ! कोर्ट जाने से पहले बढ़ी हार्टबीट और कम हुआ बीपी
बरेली: पेशी से डरा अतीक का भाई अशरफ! कोर्ट जाने से पहले बढ़ी हार्टबीट और कम हुआ बीपी
social share
google news

Atiq and Ashraf News: प्रयागराज में हुई माफिया अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की हत्या के बाद रोजाना नए-नए खुलासे हो रहे हैं. इस बीच यूपीएसटीएफ ने अतीक और अशरफ को लेकर एक बड़ा खुलासा किया है. यूपीएटीएस ने जांच के बाद दावा किया है कि माफिया अतीक अहमद और अशरफ कई मुस्लिम युवाओं को विदेश भेजकर आतंकी संगठन से जोड़ते थे, जिसके एवज में उन्हें पकिस्तान से हथियारों की खेप मिलती थी.

गौरतलब है कि सितंबर 2021 में यूपीएटीएस ने जिस जीशान कमर को पकड़ा था, उसकी अतीक अहमद और अशरफ से नजदीकियां निकल कर आई थीं. बता दें कि जीशान पर पाकिस्तान जाकर हथियार चलाने की ट्रेनिंग और जिहाद कार्यशाला में हिस्सा लेने का आरोप था. जांच में सामने आया है कि अशरफ ने पासपोर्ट अधिकारी को एक सिफारशी पत्र लिखा था, जिसमें जीशान का पासपोर्ट जल्द ही बनाने की बात कही गई थी.

वहीं, यूपी एटीएस को रिमांड के दौरान अतीक ने कथित तौर पर बताया था कि वह पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए पंजाब में हथियार मंगवाता था. सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तान हथियार भेजने के लिए पैसा नहीं लेता था.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

जांच में सामने आया है कि अतीक और अशरफ प्रयागराज में मुस्लिम बस्तियां बसाना चाहते थे. वहीं, यह भी पता चला है कि अशरफ ISI (पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी) के निर्देश के मुताबिक युवाओं को भारत में ‘काफिरों के खिलाफ’ युद्ध छेड़ने के लिए मेंटली तैयार करता था. वहीं, यूपी एटीएस ऐसे युवाओं की सूची बना रही है जो अशरफ और अतीक के द्वारा विदेश भेजे गए थे.

    Main news
    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT