हरदोई: पैमाइश के दौरान 4 युवतियों ने प्रधान पुत्र की चप्पलों से की पिटाई, वीडियो हुआ वायरल

हरदोई: पैमाइश के दौरान 4 युवतियों ने प्रधान पुत्र की चप्पलों से की पिटाई, वीडियो हुआ वायरल
फोटो: प्रशांत पाठक

Hardoi News: उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में स्थित थाना अतरौली क्षेत्र के श्यामदासपुर गांव में घूर गड्ढे की भूमि की पैमाइश का विरोध करते हुए चार युवतियों ने लेखपाल की मौजूदगी में प्रधान पुत्र की चप्पलों से पिटाई कर दी. आरोप है कि युवतियों ने प्रधान पुत्र को झूठे मामले में फंसाने की धमकी भी दी. महिलाओं की इस करतूत का मौके पर मौजूद लोगों ने वीडियो बना कर सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया, जो अब वायरल हो गया है. बता दें कि घटना सामने आने के बाद आरोपी चारों महिलाओं के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज करके अग्रिम वैधानिक कार्रवाई शुरू कर दी है.

अब तक क्या सामने आया?

मिली जानकारी के अनुसार, लेखपाल कुलदीप रविवार को अतरौली थाना क्षेत्र के श्यामदासपुर गांव में घूर गड्ढे की भूमि की पैमाइश करने के लिए गए गए थे. खबर के अनुसार, पैमाइश के दौरान ग्राम प्रधान श्रीप्रकाश का बेटा अनुज भी मौके पर मौजूद था. इस बीच गांव निवासी राजाराम की बेटी सरोजनी, सीता, निर्मला और राजू आरख नामक शख्स की बेटी सीता ने पैमाइश का विरोध करते हुए प्रधान पुत्र अनुज की चप्पलों से पिटाई शुरू कर दी. आरोप है कि महिलाओं ने अनुज को झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी भी दी.

बता दें कि महिलाओं द्वारा प्रधान पुत्र के साथ बदसलूकी का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. पुलिस प्रधान पुत्र की तहरीर पर चारों युवतियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करके अग्रिम कार्यवाही करने में जुट गई है.

पुलिस ने क्या कहा?

अपर पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार ने कहा, "थाना अतरौली क्षेत्र के अनुज निवासी श्यामदासपुर ने एक प्रार्थना पत्र पुलिस को दिया है. जिसमें उन्होंने आरोप लगाया है कि गांव की सरोजिनी, सीता निर्मला आदि महिलाओं ने पैमाइश को लेकर के उनके साथ गाली-गलौज और मारपीट की है तथा धमकी भी दी है. इस सूचना पर पुलिस ने उचित धाराओं में अभियोग पंजीकृत किया है. पुलिस विवेचना कर रही है. जो भी दोषी होगा उसके विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी."

हरदोई: पैमाइश के दौरान 4 युवतियों ने प्रधान पुत्र की चप्पलों से की पिटाई, वीडियो हुआ वायरल
हरदोई: अलग-अलग जाति होने के चलते नहीं हो पाए एक, तो प्रेमी युगल ने फांसी लगाकर दे दी जान

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in