बांदा: महज 2 किलो आटा के लिए दलित परिवार पर हमला, 8 लोगों के खिलाफ केस दर्ज

बांदा: महज 2 किलो आटा के लिए दलित परिवार पर हमला, 8 लोगों के खिलाफ केस दर्ज
फोटो: सिद्धार्थ गुप्ता, बांदा

यूपी के बांदा में दबंगो ने महज 2 किलो आटा के खातिर एक दलित परिवार पर हमला कर दिया. मोहल्ले के पड़ोस के लोगों ने जान बचाई और अस्पताल में भर्ती कराया. इस बात की पीड़ित पक्ष ने पुलिस में शिकायत की, लेकिन पुलिस ने भी कोई सुनवाई नहीं की. जिससे दलित परिवार ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और कोर्ट के आदेश पर 4 नामजद सहित 4 अज्ञात के विरुद्ध बलवा, घर में घुसकर मारपीट, छेड़छाड़, SC ST की धाराओ में केस दर्ज कर लिया गया है. पुलिस इस मामले में विवेचना की कार्रवाई कर रही है. मामला बबेरू थाना क्षेत्र के पड़री गांव का है.

अहम बिंदु

दर्ज एफआईआर के मुताबिक दलित परिवार घर में आटाचक्की लगाए हैं. पीड़ित पक्ष का आरोप है कि 22 अप्रैल 2022 को शाम 7 बजे गांव का एक व्यक्ति अपना आटा लेने आया. आटा तौलने के बाद गांव के व्यक्ति ने कहा मेरा तो 40 किलो ग्राम था तुम 38 किलोग्राम दे रहे हो. इस पर 2 किलोग्राम आटा तौलने को लेकर विवाद शुरू हो गया. वो गालियां देते हुए चला गया और कुछ देर बाद लाठी डंडो से लैस होकर अपने भाई और साथियों को लेकर हमला कर दिया.

दलित परिवार की बेटी और महिला भी बचाने आयीं उनके साथ भी मारपीट की. आरोप है कि बेटी के साथ अश्लीलता की. आसपास के लोगों ने इन दबंगों से पीड़ित परिवार की जान बचाई. पुलिस में शिकायत करने गए तो आरोप है कि दरोगा ने सादे कागज में सिग्नेचर कराकर केस दर्ज करने की बात की. फिर भी कोई कार्रवाई नहीं हुई.

जिसकी शिकायत पीड़ित पक्ष ने थाना से लगाकर एसपी, आईजी तक की, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई. पीड़ितत परिवार न्याय और दबंगो से डर के मारे सीओ, एसपी से न्याय की गुहार लगाते रहे, लेकिन किसी ने एक नहीं सुनी. जिससे परेशान हो पीड़ित परिवार ने कोर्ट का दरबाजा खटखटाया. कोर्ट के आदेश पर 4 नामजद और 4 अज्ञात आरोपियों पर गंभीर धारा 147, 452, 323, 354, 504, 506, SCST के तहत केस दर्ज कर लिया गया है.

इस मामले में कोर्ट के आदेश पर मारपीट सहित अन्य धाराओ ने केस दर्ज किया गया है. विवेचना की जा रही है, जो भी तथ्य सामने आएंगे, उसी के अनुसार वैधानिक कार्रवाई की जाएगी.

अरुण कुमार पाठक, बबेरू कोतवाली के प्रभारी

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in