UP: गन्ना के रेट में ₹25 की वृद्धि, वरुण गांधी ने लिखा- कर्ज में हैं किसान, रेट 400 कीजिए

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

किसान कानूनों को लेकर पश्चिमी यूपी में उपजे असंतोष को देखते हुए आगामी चुनाव को ध्यान में रख किसानों की नाराजगी को कम करने की कोशिशें शुरू हो गई हैं. इसी क्रम में रविवार 26 सितंबर को योगी सरकार ने राज्य में किसानों के लिए गन्ने के मूल्य में 25 रुपये प्रति क्विंटल की वृद्धि की घोषणा की है. हालांकि उनकी यह घोषणा विपक्ष के साथ-साथ बीजेपी के सांसद वरुण गांधी को भी नाकाफी लग रही है. पीलीभीत से सांसद वरुण गांधी ने इस बारे में सीएम योगी आदित्यनाथ को बकायदा खत लिखकर अपनी बात कही है.

वरुण गांधी ने सीएम योगी से मांग की है कि वह अपने फैसले पर पुनर्विचार करें और गन्ना मूल्य 400 रुपये/प्रति क्विंटल घोषित करें. बीजेपी सांसद ने लिखा कि अगर ऐसा करना संभव नहीं है, तो प्रदेश सरकार अपनी ओर से घोषित गन्ना मूल्य पर 50 रुपये प्रति क्विंटल बोनस देने का काम करे.

आपको बता दें कि रविवार को सीएम योगी आदित्यनाथ ने ऐलान किया कि प्रदेश सरकार ने गन्ना किसानों के हित में गन्ना मूल्य में बढ़ोतरी का फैसला लिया है. इसके मुताबिक 325 रुपये प्रति क्विंटल के गन्ने का गन्ना मूल्य बढ़ाकर 350 रुपये प्रति क्विंटल, 315 रुपये प्रति क्विंटल के सामान्य गन्ने का गन्ना मूल्य 340 रुपये प्रति क्विंटल किया गया. इसके अलावा अनुपयुक्त गन्ने के गन्ना मूल्य में भी 25 रुपये प्रति क्विंटल की वृद्धि की घोषणा की गई. सीएम ने दावा किया कि गन्ना मूल्य में इस वृद्धि से प्रदेश के 45 लाख गन्ना किसानों की आय में 08 प्रतिशत की अतिरिक्त बढ़ोत्तरी होगी.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

जानिए वरुण गांधी ने चिट्ठी में क्या लिखा

बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने सीएम योगी को लिखी चिट्ठी में उन्हें गन्ना मूल्य बढ़ाने के लिए धन्यवाद लिखा है. हालांकि उन्होंने किसानों की समस्या गिना इसे नाकाफी बताया है. वरुण ने चिट्ठी में लिखा, ‘मेरे क्षेत्र पीलीभीत के गन्ना किसानों ने मेरे माध्यम से आपको अवगत करवाने का निवेदन किया है कि पिछले चार सालों में गन्ने की लागत – खाद, बीज, कीटनाशक, बिजली, पानी, डीजल, मजदूरी, छोल, ढुलाई, आदि का खर्चा बहुत ज्यादा बढ़ गया है, परंतु पिछले चार सत्रों में गन्ने के रेट में मात्र 10 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की गई है.’

वरुण गांधी ने आगे लिखा है, ‘आज प्रदेश में गन्ना किसानों की आर्थिक स्थिति बहुत ही दयनीय बनी हुई है और गन्ने का उचित मूल्य ना मिलने के कारण वह कर्ज में डूब गए हैं. इस विषय में मैंने एक पत्र के माध्यम से आपसे निवेदन किया था कि गन्ना किसानों की दुर्दशा, गन्ने की बढ़ती लागत और महंगाई दर को देखते हुए इस वर्ष के गन्ने का मूल्य कम से कम 400 रुपये प्रति क्विंटल घोषित किया जाना चाहिए.’

वरुणा गांधी ने सीएम योगी आदित्यनाथ से उनके इस निवेदन पर पुनर्विचार करने को कहा है. उन्होंने अपने खत में यह भी सुझाव दिया है कि सरकार अगर 400 रुपये प्रति क्विंटल मूल्य नहीं कर सकती, तो 50 रुपये प्रति क्विंटल बोनस ही दे.

ADVERTISEMENT

आपको बता दें कि मुजफ्फरनगर किसान महापंचायत के वक्त भी वरुण गांधी ने कहा था कि किसानों के साथ सम्मानजनक तरीके से जुड़ने की जरूरत है. पिछले दिनों एक सभा के दौरान पीलीभीत में वरुण गांधी को काले झंडे भी दिखाए गए थे. वरुण के काफिले को प्रदर्शनकारियों ने कई बार रोकने की कोशिश की थी. पुलिस फोर्स के बीच वरुण गांधी को अपनी सभा करनी पड़ी थीं.

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT