window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

कोई 5 महीने तो कोई 21 दिन से हुआ ओवर एज! वर्दी पहनने का सपना टूटा तो रो पड़े यूपी के ये युवा

संतोष शर्मा

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

UP Police Constable Recruitment 2023 : उत्‍तर प्रदेश में पूरे पांच साल के इंतजार के बाद 60,244 सिपाहियों की भर्ती निकली है. इससे पहले 2018 में यूपी पुलिस में भर्ती हुई थी. इतने सालों से पुलिस भर्ती का इंतजार कर रहे युवाओं में खुशी की लहर है दूसरी तरफ उम्र को लेकर भर्ती प्रक्रिया पर सवाल भी खड़े होने लगे हैं. अभ्‍यर्थी, सरकार से मांग कर रहे हैं कि आयु सीमा में छूट दी जाए. इस भर्ती के लिए 18 से 22 साल तक की आयु सीमा निर्धारित की गई है. पिछले पांच सालों से भर्ती की तैयारी कर रहे अनेक अभ्‍यर्थी इस उम्र सीमा को पार कर गए हैं.

उत्तर प्रदेश पुलिस में पिछले पांच साल से सिपाही के लिए कोई भर्ती नहीं आई और अब जब भर्ती आई है तो कई अभ्यर्थी ओवर एज हो गए हैं. वहीं ऐसे अभ्‍यर्थियों से यूपी तक ने बातचीत की और उनके मुद्दों को समझने की कोशिश की.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

महज 21 दिनों से टूटा हरदोई के अनुज का सपना

हरदोई के माधवगंज का रहने वाला अनुज पटेल है. तीन भाइयों में दूसरे नंबर का अनुज पटेल यूपी पुलिस में आई सिपाही भर्ती की आयु सीमा में सिर्फ 21 दिन से ओवर एज हो गए हैं. किसान पिता का बेटा अनुज बीते कई सालों से हरदोई से आकर लखनऊ में उत्तर प्रदेश पुलिस की तैयारी कर रहा थे लेकिन महज 21 दिन के कारण अब इस भर्ती प्रक्रिया में शामिल नहीं हो पा रहे हैं.

बता दें कि पुलिस भर्ती बोर्ड ने जो नोटिफिकेशन निकाला है, उसमें सामान्य श्रेणी में अभ्यर्थी की उम्र 1 जुलाई 2023 को 18 साल से कम और 22 साल से अधिक ना हो. यानी जिस अभ्यर्थी की जन्म तिथि 2 जुलाई 2001 से 1 जुलाई 2005 के बीच होगी वही सिपाही भर्ती का आवेदन कर सकेंगे.

ADVERTISEMENT

पांच महिनों के कारण हुए बाहर

हरदोई के अनुज की तरह कुछ ऐसे ही कहानी अमरोहा से लखनऊ आकर सिपाही परीक्षा की तैयारी कर रहे अर्जुन सिंह की भी है. अर्जुन का बड़ा भाई 2019 में यूपी पुलिस में सिपाही में भर्ती हुआ तो अर्जुन को भी लगा कि वह भी अपने बड़े भाई की तरह पुलिस में कांस्टेबल बनाकर खाकी वर्दी पहनेगा. लेकिन अर्जुन 5 महीने से ओवर एज हो गया.

लखनऊ में अभ्यर्थी कर रहे हैं ये मांग

अनुज अर्जुन दीपक अकेले नहीं है जब से उत्तर प्रदेश पुलिस में 60,244 पदों के लिए भर्ती आई है, इसकी आयु सीमा 18 से 22 वर्ष निर्धारित हुई है, तब से तमाम अभ्यर्थी लखनऊ की सड़कों पर भटक रहे हैं. नेताओं के घरों पर चक्कर लगा रहे हैं. हाथ में तख्ती लेकर उत्तर प्रदेश सरकार से राजस्थान बिहार की तरह ही आयु सीमा में छूट की मांग कर रहे हैं. मुख्यमंत्री से मुलाकात करने के लिए ये अभ्यर्थी मुख्यमंत्री चौराहे पर पहुंचे तो पुलिस ने इन को धरनास्थल इको गार्डन भेज दिया. इको गार्डन पहुंचे इन लड़कों का कहना है कि कोविड काल की वजह से 2018 के बाद से कोई भर्ती सिपाही पद के लिए नहीं आई. अन्य राज्यों ने दो से 3 साल की छूट दी है उत्तर प्रदेश सरकार भी छूट दे.

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT