window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

अतीक-अशरफ की हत्या पर भड़के ओवैसी बोले- जय श्रीराम के नारे लगे, हत्या योगी सरकार की नाकामी

यूपी तक

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

प्रयागराज में शनिवार रात माफिया डॉन अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की गोली मार कर हत्या कर दी गई. अतीक और अशरफ की हत्या से हड़कंप मच गया है. बता दें कि अतीक और अशरफ को पुलिस मेडिकल के लिए अस्पताल ले जा रही थी, इसी दौरान इन दोनों की गोली मार कर हत्या कर दी गई है. आपको यह भी बता दें कि इससे पहले अतीक के बेटे असद का यूपीएसटीएफ ने एनकाउंटर कर दिया था. इसी बीच अतीक और अशरफ की भी हत्या हो गई है.

अतीक और अशरफ की हत्या से सियासत भी गर्मा गई है. एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने इस हत्याकांड को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर बड़ा हमला बोला है. ओवैसी की तरफ से ये भी कहा गया है कि जिस वक्त अतीक और अशरफ पर गोलियां चलाई गई, उस समय जय श्रीराम के नारे भी लगाए गए.

गुड्डू मुस्लिम की कहानी बता रहा था अतीक का भाई अशरफ तबतक लगी गोली, निकल गई जान

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

क्या कहा ओवैसी ने

एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट किया, “अतीक और उनके भाई पुलिस की हिरासत में थे. उन पर हथकड़ियां लगी हुई थीं. JSR (जय श्रीराम) के नारे भी लगाये गए. दोनों की हत्या योगी के कानून व्यवस्था की नाकामी है. एनकाउंटर राज का जश्न मनाने वाले भी इस हत्या के ज़िम्मेदार हैं.

ADVERTISEMENT

इसके साथ ही ओवैसी ने ट्वीट किया, “जिस समाज में हत्यारे हीरो होते हैं, उस समाज में कोर्ट और इंसाफ़ के सिस्टम का क्या काम?”

अखिलेश का भी आया बयान

ADVERTISEMENT

आपको बता दें कि अतीक और अशरफ की हत्या की खबर जैसे ही आई है, वैसे ही नेताओं के बयान आने भी शुरू हो गए हैं. समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने भी ट्वीट करके योगी सरकार पर निशाना साधा है.

अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, “उत्तर प्रदेश में अपराध की पराकाष्ठा हो गई है और अपराधियों के हौसले बुलंद है. जब पुलिस के सुरक्षा घेरे के बीच सरेआम गोलीबारी करके किसी की हत्या की जा सकती है तो आम जनता की सुरक्षा का क्या. इससे जनता के बीच भय का वातावरण बन रहा है. ऐसा लगता है  कुछ लोग जानबूझकर ऐसा वातावरण बना रहे हैं.”

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT