window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

कन्नौज कांड : सिपाही सचिन राठी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हो गया बड़ा खुलासा, इस वजह से हुई मौत

सिमर चावला

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Uttar Pradesh News : उत्तर प्रदेश के कन्नौज (Kannauj Firing) में हिस्ट्रीशीटर को पकड़ने गई पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी गई. इस फायरिंग में सिपाही सचिन राठी घायल हो गए. इलाज के लिए उन्हें कानपुर के अस्पताल लाया गया. जहां आज उन्होंने दम तोड़ दिया. सिपाही सचिन की मौत के बाद परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. वहीं सचिन राठी मौत के बाद उनकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आई है.

सामने आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट

बता दें कि सिपाही सचिन राठी की मौत के बाद उनकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आई है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक अतिरिक्त खून बह जाने से सचिन राठी की मौत हुई है. वहीं जवान बेटे के मौत के बाद सचिन के पूरे परिवार में कोहराम मच हुआ है. बता दें कि सोमवार को कन्नौज में हिस्ट्रीशीटर को पकड़ने गई पुलिस टीम पर दबंगों ने हमला बोल दिया . दबंगों ने पुलिस पर सीधी फायरिंग झोंक दी. इस फायरिंग में सिपाही सचिन को जांघ में गोली लग गई. आनन-फानन उसे अस्पताल पहुंचाया गया. जहां इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

जब गोली लगने के बाद सिपाही सचिन राठी को अस्पताल लाया गया तो उनके साथ तमाम पुलिसकर्मी भी मौजूद थे. लहूलुहान सचिन को देख उनके साथियों की आंखों में आंसू आ गए थे. उन्हें यकीन नहीं हो रहा था कि जिस सचिन के साथ वो कुछ देर पहले ड्यूटी पर थे, वो अब इस दुनिया में नहीं है. सचिन ने ड्यूटी करते हुए अपने प्राण न्यौछावर कर दिए.

हिस्ट्रीशीटर ने किया फायरिंग

बता दें कि मामला थाना बिशुनगढ क्षेत्र के ग्राम धरनी धीरपुर नगरिया का है, जहां सोमवार शाम पुलिस टीम हिस्ट्रीशीटर अशोक यादव उर्फ मुन्ना यादव को पकड़ने गई थी. उसके खिलाफ कोर्ट से गैर जमानती वारंट जारी हुआ था. लेकिन घर के बाहर पहुंचते ही हिस्ट्रीशीटर ने पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी. इसमें अशोक यादव का बेटा भी शामिल था. जब तक पुलिस कुछ समझ पाती एक गोली सिपाही सचिन राठी को लग गई. वो जमीन पर गिर पड़े.

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT