सशस्त्र बलों में भर्ती योजना अग्निपथ पर उठे सवाल, वरुण गांधी ने युवाओं से पूछा ये सवाल

सशस्त्र बलों में भर्ती योजना अग्निपथ पर उठे सवाल, वरुण गांधी ने युवाओं से पूछा ये सवाल
वरुण गांधी(फोटो: यशवंत नेगी/इंडिया टुडे)

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मंगलवार यानी 14 जून को भारतीय युवाओं के लिए सशस्त्र बलों में सेवा के लिए एक बड़ी भर्ती योजना को मंजूरी दी है. इस योजना को 'अग्निपथ' नाम दिया गया है. योजना के तहत चुने गए युवाओं को 'अग्निवीर' कहा जाएगा. योजना को लेकर तमाम लोगों ने अपनी अपनी राय रखी है. कुछ इसकी तरीफ कर रहे हैं तो कुछ लोग इसपर सवाल भी उठ रहे हैं. इसी क्रम में वरुण गांधी ने ट्वीट कर युवाओं से उनकी राय पूछी है.

अहम बिंदु

बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने ट्वीट कर लिखा कि ''अग्निपथ योजना को लेकर युवाओं के मन में कई सारे सवाल और संशय हैं. इस योजना को लेकर आपकी क्या राय है मुझे बताएं.'' इसी के साथ उन्होंने युवाओं को अग्निपथ योजना के दौरान मिलने वाले सैलरी पैकेज की फोटो भी शेयर की.

आपको बता दें कि अग्निपथ, युवाओं को चार साल की अवधि के लिए सशस्त्र बलों में सेवा करने की अनुमति देता है. केंद्रीय रक्षा मंत्रालय के मुताबिक अग्निपथ योजना सशस्त्र बलों के युवा प्रोफाइल को सक्षम करने के लिए डिजाइन की गई है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को अग्निपथ भर्ती योजना' का ऐलान करते हुए कहा- अग्निपथ भर्ती योजना क्रांतिकारी पहल है. अग्निपथ योजना के तहत, भारतीय युवाओं को सशस्त्र बलों में 'अग्निवीर' के रूप में सेवा करने का अवसर प्रदान किया जाएगा. भारत की सुरक्षा को मजबूत करने के लिए अग्निपथ योजना लायी गयी है.

हालाकिं इसको लेकर सीएम योगी ने ट्वीट कर लिखा कि "माँ भारती की सेवा के उपरांत अग्निवीरों को यूपी सरकार प्रदेश पुलिस एवं संबंधित अन्य सेवाओं में प्राथमिकता प्रदान करेगी. युवाओं के उन्नयन एवं उनके सुरक्षित भविष्य के लिए बीजेपी की डबल इंजन की सरकार सतत समर्पित व पूर्णतः प्रतिबद्ध है. जय हिंद!"

इससे पहले मुख्यमंत्री कार्यालय ने एक बयान जारी कर रहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा ‘अग्निपथ योजना’ को मंजूरी दिए जाने का सीएम योगी ने स्वागत किया है. सीएमओ के अनुसार मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘अग्निपथ योजना’ सशस्त्र बलों के सामर्थ्य में वृद्धि करेगी. यह योजना देश की सुरक्षा को सुदृढ़ करेगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि यह योजना भारतीय सैन्य इतिहास में एक स्वर्णिम अध्याय का सृजन करेगी. ‘अग्निपथ योजना’ का लक्ष्य सशस्त्र बलों को आधुनिक तकनीक से युक्त युवा शक्ति से जोड़ना है. इन युवाओं को 'अग्निवीर' की संज्ञा दी जाएगी.

ये सवाल उठने लगे

इस योजना के लॉन्च होते ही कई बेसिक सवाल उठने लगे हैं. चार साल पूरे होने के बाद भले ही 25 फीसदी अग्निवीरों को स्थायी काडर में भर्ती कर लिया जाएगा, लेकिन सवाल यह हो रहा है कि दसवीं या बारहवीं पास करके अग्निवीर बने 75 फीसदी युवाओं के पास चार साल बाद क्या विकल्प होगा..

वरुण गांधी
CM योगी ने सेना में अग्निपथ योजना की तारीफ की, जानिए इससे सैन्य भर्ती में क्या होंगे बदलाव

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in