लुलु मॉल: हिंदू लड़कियां और मुस्लिम लड़कों की संख्या पर बवाल के बीच ओवैसी का आया ये रिएक्शन

असदुद्दीन ओवैसी
असदुद्दीन ओवैसी(फोटो: चंद्रदीप कुमार/ इंडिया टुडे)

उद्घाटन के बाद से ही चर्चा में बना हुआ लखनऊ के लुलु मॉल में हिंदू लड़कियों और मुस्लिम लड़कों की संख्या को लेकर मचे बवाल के बाद मॉल प्रशासन ने रिलीज जारी कर ये साफ किया कि वर्किंग स्टॉफ कौन से धर्म का कितना है. मॉल प्रशासन द्वारा जारी रिलीज के ट्वीट को री-ट्वीट कर एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट किया है.

अहम बिंदु

असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट कर लिखा है- ''80 aur 20 …..'' यानी 80 फीसदी हिंदू और 20 फीसदी में दूसरे धर्मों के स्टाफ. ध्यान देने वाली बात है कि अभी तक ये चर्चा थी कि 80 फीसदी मुस्लिम स्टॉफ और 20 फीसदी हिंदू लड़कियों को काम पर रखा गया है. इसे लेकर बवाल मचा हुआ था. आखिरकार मॉल प्रशासन को सफाई देनी पड़ी.

तस्वीर: असदुद्दीन ओवैसी के ट्वीटर से

हालांकि एआईएमआईएम अध्यक्ष अध्यक्ष ने मॉल प्रशासन द्वारा जारी किए गए विज्ञप्ति के आधार पर वही बात बताई है. उन्होंने ज्यादा कुछ नहीं लिखा है. ध्यान देने वाली बात है कि अभी तक मुस्लिम स्टॉफ की संख्या अधिक और हिंदू स्टॉफ में लड़कियों को रखकर लव जिहाद का अड्‌डा बनाए जाने का आरोप लग रहा था.

अहम बिंदु

मॉल प्रशासन ने कही ये बात

इस तरह के दावों और विवादों के बीच रविवार को मॉल प्रशासन ने एक विज्ञप्ति जारी कहा कि हमारे यहां जितने भी कर्मी हैं उनमें स्थानीय, उत्तर प्रदेश और देश से भी हैं, जिनमें से 80 प्रतिशत से अधिक हिन्दू हैं और शेष में मुस्लिम, इसाई व अन्य वर्गों के लोग हैं. साथ ही मॉल प्रशासन ने यह भी कहा, "हमारे यहां जो भी कर्मी हैं वे जाति, मत, मजहब के नाम पर नहीं, बल्कि अपनी कार्यकुशलता के आधार पर और मेरिट के आधार पर रखे जाते हैं. लुलु मॉल एक पूर्णतया व्यावसायिक प्रतिष्ठान है, जो बिना किसी जाति, मत या वर्ग का भेद किये हुये व्यवसाय करता है."

इसके अलावा मॉल प्रशासन ने बताया कि हमारे प्रतिष्ठान में किसी भी व्यक्ति को धार्मिक गतिविधि संचालित करने की छूट नहीं है. जिन लोगों ने सार्वजनिक स्थान पर प्रार्थना और नमाज पढ़ने की कुत्सित चेष्टा की उनके खिलाफ मॉल प्रबन्धन ने एफआईआर कराकर उचित कार्रवाई की है.

इसलिए मचा था बवाल

दावा किया जा रहा था कि लुलु मॉल में 80% पुरुष मुस्लिम और 20% हिंदू लड़कियां काम कर रही हैं. इस दावे के साथ यह भी कहा जा रहा है कि लखनऊ का लुलु मॉल लव जिहाद का अड्डा बन चुका है.

असदुद्दीन ओवैसी
लखनऊ: लुलु मॉल में नमाज पढ़ने के मामले में जांच तेज, पुलिस ऐसे कर रही युवकों की तलाश

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in