UP में शांतिपूर्ण तरीके से अदा की गई जुमे की नमाज, नमाजियों ने सुरक्षाकर्मियों को दिये फूल

UP में शांतिपूर्ण तरीके से अदा की गई जुमे की नमाज, नमाजियों ने सुरक्षाकर्मियों को दिये फूल
सांकेतिक तस्वीर.फोटो: इंडिया टुडे

उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को जुमे की नमाज कड़े सुरक्षा बंदोबस्त के बीच शांतिपूर्ण तरीके से अदा की गई. इस दौरान कई संवेदनशील जिलों में ड्रोन से निगरानी की गयी. लखनऊ और जालौन में नमाजियों ने पुलिसकर्मियों को फूल बांटकर प्रेम और भाईचारे का इजहार किया.

राज्य के अपर पुलिस महानिदेशक (कानून—व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने बताया, 'जुमे की नमाज शांतिपूर्ण माहौल में अदा की गई.'

उन्होंने कहा कि धर्मगुरुओं और पुलिस प्रशासन की मदद से पूरे राज्य में जुमे की नमाज शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुई और इस दौरान कहीं कोई अप्रिय घटना नहीं हुई.

सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की तत्कालीन प्रवक्ता नूपुर शर्मा द्वारा पैगंबर मोहम्मद साहब के प्रति कथित अपमानजनक टिप्पणी के बाद उनकी गिरफ्तारी की मांग को लेकर पिछली 10 जून को जुमे की नमाज के बाद उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में व्यापक हिंसा हुई थी. इसके मद्देनजर इस बार जुमे की नमाज के लिए बहुत कड़े सुरक्षा प्रबंध किए गए थे.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक सुरक्षा के मद्देनजर लखनऊ, वाराणसी, मेरठ, अलीगढ़ तथा आगरा सहित कई शहरों में संवेदनशील इलाकों की ड्रोन से निगरानी की गई। चाक-चौबंद सुरक्षा के लिए पीएसी और सीएपीएफ के करीब 10 हजार जवान तैनात किए गए.

राज्य की राजधानी लखनऊ में पिछली 10 जून को टीले वाली मस्जिद के बाहर नारेबाजी की गई थी। आज मस्जिद की ड्रोन कैमरे के जरिए निगरानी की गई. नमाज पढ़कर बाहर निकल रहे कुछ नमाजियों ने सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों को फूल देकर भाईचारे का मुजाहिरा किया.

जालौन में भी उरई बजरिया की शाही जामा मस्जिद में नमाजियों ने मस्जिदों के बाहर खड़े सुरक्षाकर्मियों के बीच फूल बांटे. इसके अलावा कुछ अन्य मस्जिदों के बाहर बच्चे भी फूल लेकर खड़े दिखायी दिये.

वाराणसी के पुलिस आयुक्त ए. सतीश गणेश ने बताया कि जिले में सुरक्षा काफी चौक चौबंद रही. ज्ञानवापी मस्जिद में जुमे की नमाज के मद्देनजर मस्जिद के आसपास बहुमंजिला इमारतों की छतों पर भी पुलिस बल तैनात रहा.

पिछले जुमे को हिंसा की चपेट में आए प्रयागराज के अटाला क्षेत्र में पुलिस का सख्त पहरा रहा। इसी क्षेत्र में पिछली 10 जून को हिंसा हुई थी. जिले के संवेदनशील क्षेत्रों में लगभग 300 सीसीटीवी कैमरा लगाए गए थे और कई ड्रोन कैमरों से भी निगरानी की गई.

पिछली 10 जून को हिंसक घटनाओं के गवाह बने सहारनपुर जिले में आज पुलिस बल खासा मुस्तैद रहा. जिलाधिकारी अखिलेश सिंह और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया. इस दौरान जामा मस्जिद और बाजार में काफी कड़े हिफाजती बंदोबस्त किए गए.

सुरक्षा के लिहाज से संवेदनशील माने जा रहे कानपुर जिले में तीन दर्जन से ज्यादा संवेदनशील स्थानों को चिह्नित कर वहां बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया और अनेक स्थानों पर ड्रोन से निगरानी की गई. मूलगंज, अनवरगंज और जाजमऊ समेत कई जगहों पर पुलिस की पैनी निगाह रही.

मेरठ में भी सुरक्षा व्यवस्था काफी कड़ी रही. इस दौरान पुलिस ने ड्रोन कैमरा की मदद से कई रिहायशी इलाकों का भी जायजा लिया.

अलीगढ़ में नमाज शांतिपूर्ण ढंग से अदा की गई. शहर मुफ्ती खालिद हमीद ने मुस्लिम समाज से अपील की थी कि वह किसी भी तरह की हिंसा न करे और नमाज के बाद किसी जगह एकत्र ना हो.

कन्नौज में ड्रोन कैमरा की निगरानी के दौरान छिबरामऊ इलाके में एक धार्मिक स्थल में बनी बाजार की छत पर ईंटों का ढेर पाया गया. इसकी सूचना मिलने पर प्रशासन ने उस मलबे को वहां से फौरन हटाने के आदेश दिए.

नोएडा से प्राप्त समाचार के अनुसार गौतम बुद्ध नगर में जुमे की नमाज सकुशल संपन्न हुई. चप्पे-चप्पे पर क्षेत्रीय अभिसूचना इकाई के जवान तथा पुलिस के सूचना तंत्र के लोग तैनात किए गए थे. सादी वर्दी में भारी संख्या में पुलिसकर्मी धार्मिक स्थलों के आसपास तैनात किए गए हैं, ताकि किसी भी अप्रिय घटना के समय स्थिति पर तुरंत काबू पाया जा सके.

गौतमबुद्व नगर के पुलिस आयुक्त आलोक सिंह और संयुक्त पुलिस आयुक्त लव कुमार के नेतृत्व में डीसीपी, एडीसीपी, एसीपी व थाना पुलिस ने नामाज से पूर्व विभिन्न कस्बों और शहर में फ्लैग मार्च निकाला.

गौरतलब है कि पिछली 10 जून को नूपुर शर्मा मामले को लेकर जुमे की नमाज के बाद उत्तर प्रदेश के प्रयागराज, सहारनपुर, हाथरस तथा अलीगढ़ समेत कई जिलों में हिंसक वारदात हुई थीं. इस मामले में अब तक लगभग 400 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

सांकेतिक तस्वीर.
चंदौली: जुमे की नमाज को लेकर प्रशासन-पुलिस अलर्ट, आईजी ने उपद्रवियों को दी ये चेतावनी

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in