सीएम योगी ने किया इन जिलों के बाढ़ क्षेत्रों का दौरा, बोले- संकट की इस घड़ी में सरकार साथ है

सीएम योगी ने किया इन जिलों के बाढ़ क्षेत्रों का दौरा, बोले- संकट की इस घड़ी में सरकार साथ है
तस्वीर: विनय कुमार सिंह

उत्तर प्रदेश के अनेक जिले इस समय बाढ़ की चपेट में हैं. पूरे प्रदेश में 1100 से ज्यादा गांव प्रभावित हैं. कई बड़े शहरों में एक आबादी बाढ़ से प्रभावित है. ऐसे में सीएम योगी ने बाढ़ग्रस्त जिले वाराणसी, गाजीपुर और चंदौली का दौरा किया. दौरे के बाद सीएम योगी का हेलीकॉप्टर गाजीपुर जिले के मोहम्मदाबाद में राहत शिविर में पहुंचा. यहां राहत शिविर की तैयारियों को देखने के बाद सीएम योगी ने जनता से कहा- संकट की इस घड़ी में सरकार आपके साथ है.

अहम बिंदु

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा- संकट के समय में पूरी सरकार और प्रशासन आपके साथ है. ये आश्वस्त करने के लिए आज मैं आपके बीच में स्वयं उपस्थित हुआ हूं. गाजीपुर के बाढ़ प्रभावित सभी क्षेत्रों का दौरा किया है. दौरा करने के बाद मैं यहां राहत शिविर में आया हूं. मैं जानता हूं कि यूपी में बारिश औसत से भी कम बारिश हुई है. बावजूद इसके बाढ़ की ये समस्या राजस्थान और एमपी से छोड़े जाने वाले पानी की वजह से है.

स्क्रीन ग्रैब: उत्तर प्रदेश सरकार के यूट्यूब चैनल से.
राजस्थान और मध्य प्रदेश में काफी बारिश हुई है. राजस्थान से अकेले 26 लाख क्यूसिक पानी छोड़ा गया है. मध्य प्रदेश से 4 लाख क्यूसिक से अधिक जल छोड़ने के कारण चंबल, बेतवा और अन्य सहायक नदियों में जल स्थर काफी बढ़ा और फिर यमुना जी और गंगा जी में भीषण जलप्लावन की समस्या खड़ी हुई है.

सीएम योगी ने आगे कहा- हालांकि यह विगत वर्षों से कम है. पर पहले से ही कम वर्षा के कारण पीड़ित किसान के लिए अचानक इस पानी के आने के कारण प्रदेश के अंदर करीब 1100 गांव प्रभावित हुए हैं. गाजीपुर में 33 गांव प्रभावित हुए हैं. जिसमें 7000 से अधिक परिवार बाढ़ से प्रभावित हैं, जिन्हें अलग-अलग राहत कैंपों में या गांवों में उनके घरों तक राशन सामग्री पहुंचाकर भोजन उपलब्ध कराकर प्रशासन सहायता कार्य को आगे बढ़ा रहा है.

अहम बिंदु

मुख्यमंत्री ने कहा- बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में कल हमारे मंत्रीगण ने इटावा, औरैया, जालौन, हमीरपुर प्रयागराज का दौरा किया. मैं खुद वाराणसी, चंदौली और गाजीपुर के दौरे पर आया हूं. हम सब लोगों ने जो व्यवस्था की है, उसमें प्रभावित क्षेत्रों में पर्याप्त नौकाओं की व्यवस्था की गई है.

अकेले जनपद गाजीपुर में 288 नौकाओं की व्यवस्था जिला प्रशासन ने की है. एसटीआरएफ और पीएससी की फ्लड यूनिट को यहां लगाया गया है. 31 गोताखोर और 178 आपदा मित्र भी बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में जनता के लिए तैयार किए गए हैं. 5000 से अधिक पशुधन भी प्रभावित हुआ है्. उन्हें विभिन्न राहत शिविरों में चारा देने की कार्यवाही हो रही है. इसके अलावा इन सभी क्षेत्रों में एंटी स्नेक वैनम और एंटी रैबिज के वैक्सीन भी पर्याप्त मात्रा में जिलों में उपलब्ध कराए गए हैं.

तस्वीर: उदय गुप्ता, यूपी तक
सीएम योगी ने कहा- तेल, नमक, मसाले, मोमबत्ती, दियासलाई, आलू और लाई-चना का किट पीड़ितों को 15 दिन के लिए उपलब्ध कराया जा रहा है. सूखे के कारण किसानों को जो नुकसान हो रहा है. हमारा प्रयास है कि अभी दलहन-तिलहन आदि बोने का समय है. सब्जी के बीज हम लघु, सीमांत और अन्य प्रभावित किसानों को उपलब्ध करा रहे हैं.

यूपी कैबिनेट ने 2000 क्विंटल तोरई के बीच मुफ्त में किसानों को उपलब्ध कराने की व्यवस्था की है. ऐसे ही मैंने दलहन और तिलहन से जुड़े हुए कृषि बीजों को उपलब्ध कराने के लिए कृषि विभाग और उद्यान विभाग को पहले ही निर्देशित किया है. प्रशासन को भी सख्त हिदात दी गई है. बीजेपी के कार्यकर्ता और प्रतिनिधियों को भी जनता की सेवा में हर स्तर पर लगने के लिए कहा गया है.

सीएम योगी ने किया इन जिलों के बाढ़ क्षेत्रों का दौरा, बोले- संकट की इस घड़ी में सरकार साथ है
सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिल्ली की यमुना नदी में 5 युवकों की डूबने से हुई मौत पर जताया शोक

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in