अयोध्या में बनवाया गया क्वीन हो पार्क, जानें क्या है इसकी कहानी, देखें तस्वीरें

समर्थ श्रीवास्तव

उत्तर प्रदेश सरकार ने अयोध्या और दक्षिण कोरिया के सांस्कृतिक संबंधों को सुदृढ़ बनाने की योजना को मूर्त रूप दिया है.

फोटो: समर्थ श्रीवास्तव

इस निमित्त सरकार ने क्वीन हो मेमोरियल पार्क का निर्माण कराया है.

फोटो: समर्थ श्रीवास्तव

सरयू तट पर करीब दो हजार वर्गमीटर में फैले दो देशों के ऐतिहासिक रिश्तों का यह प्रतीक स्थल लगभग 21 करोड़ रुपये से बनकर तैयार हो गया है.

फोटो: समर्थ श्रीवास्तव

उम्मीद है कि दीपोत्सव में मुख्यमंत्री योगी आदित्य़नाथ के अयोध्या पहुंचने पर पार्क का लोकार्पण किया जा सकता है.

फोटो: इंडिया टुडे ग्रुप

दक्षिण कोरियाई इतिहास के अनुसार, अयोध्या की राजकुमारी श्रीरत्ना दो हजार वर्ष पूर्व जल मार्ग से दक्षिण कोरिया पहुंचीं थीं. वहां उनका विवाह राजा सूरो से हुआ था.

फोटो: समर्थ श्रीवास्तव

गौरतलब है कि नवंबर 2018 में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व दक्षिण कोरिया की प्रथम महिला किम जोंग सुक ने संयुक्त रूप से रानी हो पार्क का शिलान्यास किया था.

फोटो: समर्थ श्रीवास्तव

पार्क में सेतु के एक किनारे पर राजा सूरो का किंग पवेलियन, जबकि दूसरे छोर पर अयोध्या का प्रतिनिधित्व करता रानी हो का क्वीन पवेलियन है.

फोटो: समर्थ श्रीवास्तव

राजकुमारी श्रीरत्ना की कोरिया यात्रा की प्रतीक नाव एवं रास्ते में मिला गोल्डन एग भी पार्क में स्थापित है.

फोटो: समर्थ श्रीवास्तव

पार्क में मेडिटेशन हॉल, पाथवे, शौचालय, फाउंटेन, ओएटी, लैंडस्केपिंग, स्कल्चर, बाउंड्रीवॉल, पार्किंग और पॉन्ड समेत अन्य चीजों का निर्माण कराया गया है.

फोटो: समर्थ श्रीवास्तव