इटावा: गौशाला में भूख से तड़प-तड़प कर मर रहीं गायें, पक्षी नोंच-नोंचकर खा जा रहे अंग!
फोटो: यूपी तक

इटावा: गौशाला में भूख से तड़प-तड़प कर मर रहीं गायें, पक्षी नोंच-नोंचकर खा जा रहे अंग!

उत्तर प्रदेश के दूसरी बार मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ ने गौशालाओं और गोवंश पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए, लेकिन अभी भी गौशालाओं की हालत में कोई सुधार नजर नहीं आ रहा है.

इटावा जनपद में कुल 106 छोटी-बड़ी गौशालाए हैं, जिनमें लगभग 12400 गोवंश मौजूद हैं. इन गोवंशों के लिए 30 रुपये प्रतिदिन प्रति गोवंश के हिसाब से भूसे की व्यवस्था की जाती है, जो कि अपर्याप्त है.

इन गौशालाओं में थाना बसरेहर क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम परौली रमायन की गौशाला दुर्गति की शिकार बनी हुई है. इसमें 585 गोवंश रखने की क्षमता है, इस समय 537 गोवंश हैं. लेकिन इस गौशाला में प्रतिदिन कई गोवंशों की भूख से तड़पते हुए मृत्यु हो गई.

गोवंश के मरने के बाद उसकी दुर्गति इस प्रकार रहती है कि उसके अंग भी जानवर और पक्षी नोंच-नोंचकर खा जाते हैं. इसके बावजूद भी संवेदनहीनता इतनी अधिक है कि अनदेखी की जा रही है.

ग्राम प्रधान शुवेंद्र सिंह चौहान का कहना है कि 30 रुपये प्रति गोवंश के हिसाब से बहुत कम पैसा मिल पाता है जिस कारण गोवंश को पर्याप्त भोजन भी नहीं मिल पा रहा है. ग्राम विकास की निधि का भी पैसा गौशाला में खर्च हो जाता है तो अब ग्राम पंचायत में विकास कैसे होगा?

(पूरा मामला विस्तार से जानने के लिए ऊपर शेयर किए गए वीडियो को देख जा सकता है.)

इटावा: गौशाला में भूख से तड़प-तड़प कर मर रहीं गायें, पक्षी नोंच-नोंचकर खा जा रहे अंग!
इटावा: सड़क हादसे में तीन दोस्तों ने एक साथ छोड़ी दुनिया, शव आए तो रो पड़ा गांव

Related Stories

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in