प्रयागराज मेयर सीट हुई अनारक्षित, चुनाव में तीसरी बार बाजी मारेंगी नंदी की पत्नी अभिलाषा?

ADVERTISEMENT

UP निकाय चुनाव: BJP ने लिया ऐसा फैसला कि कट जाएगा अभिलाषा नंदी का टिकट? विस्तार से जानें
UP निकाय चुनाव: BJP ने लिया ऐसा फैसला कि कट जाएगा अभिलाषा नंदी का टिकट? विस्तार से जानें
social share
google news

UP Nikay Chunav 2023: उत्तर प्रदेश सरकार ने गुरुवार को नगर निगमों के मेयर, नगर परिषद और नगर पंचायतों के अध्यक्षों के लिए अंतरिम आरक्षण सूची जारी की. इस अंतरिम आरक्षण सूची के जारी होने से प्रयागराज की वर्तमान मेयर अभिलाषा गुप्ता के लिए अच्छी खबर सामने आई है. दरअसल, इससे पहले सामने आई आरक्षण सूची में प्रयागराज की मेयर सीट पिछड़ी जाति यानी ओबीसी के लिए आरक्षित कर दी गई थी. मगर गुरुवार को जारी हुई नई आरक्षण सूची में प्रयागराज की सीट अनारक्षित घोषित हुई है. इसका मतलब साफ है कि अगर इस बार भी भाजपा अभिलाषा गुप्ता को टिकट देती है तो वह लगातार तीसरी बार प्रयागराज मेयर का चुनाव लड़ेंगी. आपको बता दें कि अभिलाषा गुप्ता यूपी सरकार के मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी की पत्नी हैं.

लगातार दो बार से प्रयागराज की मेयर हैं अभिलाषा

गौरतलब है कि दो बार से प्रयागराज मेयर रहीं मंत्री नंद गोपाल गुप्ता की पत्नी अभिलाषा गुप्ता नंदी 2012 में बसपा समर्थित पहली बार मेयर बनी थीं. वहीं, दूसरी बार 2017 में बीजेपी के टिकट से उन्होंने जीत दर्ज की थी. अब नई सूची जारी होने के बाद अभिलाषा गुप्ता का लगातार तीसरी बार मेयर चुनाव लड़ने का रास्ता साफ हो गया है. अगर अभिलाषा गुप्ता को भाजपा से टिकट मिलती है और वह चुनाव जीतती हैं तो वह लगातार तीसरी बार प्रयागराज की मेयर बनेंगी.

आपको बता दें कि यूपी में 17 नगर निगमों में 8 सीटें सामान्य श्रेणी यानी अनारक्षित हैं. इसके अलावा महिलाओं के लिए 3 सीटें आरक्षित की गई हैं. पिछड़ा वर्ग और पिछड़ा वर्ग महिला के लिए क्रमशः 2-2 सीटें यानी 4 सीटें आरक्षित की गई हैं. एक सीट अनुसूचित जाति और एक सीट अनुसूचित जनजाति महिला के लिए आरक्षित की गई है.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT