window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

अमेठी वाले आरिफ का सारस पक्षी विहार से हुआ गायब फिर नाटकीय तरीके से मिला भी, गजब तमाशा

यूपी तक

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

पिछले कुछ दिनों से यूपी का राज्य पक्षी सारस सुर्खियों में बना हुआ है. वहीं, सारस को लेकर जमकर सियासत भी हो रही है. टीवी से लेकर आमजन सारस का जिक्र कर रहे हैं. ऐसा इसलिए है क्योंकि अमेठी के आरिफ और सारस के बीच एक अनोखी दोस्ती हुई, जो देशभर में चर्चा का विषय बन गई. इस दोस्ती को देखने सपा प्रमुख अखिलेश यादव भी गए थे. मगर इसके बाद वन विभाग, सारस को आरिफ से अलग कर उसे समसपुर पक्षी विहार ले गया. इसी बीच खबर आई कि वह सारस गायब हो गया है. इस सारस के कथित तौर पर लापता होने के चलते यूपी की सियासत भी गरमा गई है. इसे लेकर सपा प्रमुख ने निशाना भी साधा है. उन्होंने कहा कि ‘भाजपा सरकार तत्काल सारस खोजे, नहीं तो पूरी दुनिया के पक्षी-प्रेमी आंदोलन करेंगे. मगर अब खबर आ रही है कि कि आरिफ का सारस मिल गया है.

पहले लापता की बात अब अखिलेश ने की सारस के मिलने की बात

बता दें कि सपा प्रमुख अखिलेश ने पहले सारस के लापता होने की बात कही थी. मगर कुछ ही देर बाद अखिलेश ने एक वीडियो को शेयर किया. दावा किया गया कि ये वही आरिफ का सारस है, जिसके लापता होने की बात कही जा रही थी.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

अखिलेश ने वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट किया, “उप्र के पक्षी-प्रेमी ‘बी सैया’ नामक गांव को बहुत धन्यवाद जिसने सारस को बचाया, खिलाया पिलाया और वो काम कर दिखाया, जिसमें उप्र की सरकार नाकाम रही. सच तो ये है कि प्रेम से बड़ी सत्ता और कोई हो ही नहीं सकती. भाजपाई अगर समय रहते ये समझ लें तो शायद उनके अंदर की नफ़रत कुछ कम हो जाए.”

पहले की गई थी सारस के गायब होने की बात

ADVERTISEMENT

बता दें कि इससे पहले सारस के कथित तौर पर गायब होने की खबरें आई थी. इसको लेकर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट किया था, “उत्तर प्रदेश वन-विभाग द्वारा अमेठी से जबरदस्ती ले जाकर रायबरेली के समसपुर पक्षी विहार में छोड़ा गया ‘बहुचर्चित सारस’ अब लापता है. उप्र के राज्य-पक्षी के प्रति ऐसी सरकारी लापरवाही एक गंभीर विषय है. भाजपा सरकार फौरन सारस खोजे, नहीं तो पूरी दुनिया के पक्षी-प्रेमी आंदोलन करेंगे. शर्मनाक.”

‘वो सारस पूरे यूपी को प्रिय’

ADVERTISEMENT

अखिलेश यादव ने आगे ट्वीट किया, “मुख्यमंत्री जी चाहें तो लापता सारस का कोई नामकरण भी कर दें लेकिन उसे ढूंढकर उसकी जान जरूर बचाएं. वो सारस भी पूरे उप्र को वैसे ही प्रिय है, जैसे मुख्यमंत्री जी को गोलू.”

अखिलेश ने शेयर की सारस की वीडियो

इसी बीच अखिलेश यादव ने सारस की एक वीडियो शेयर की है. दावा है कि यह वही आरिफ का सारस है जिसके लापता होने की खबर आई थी. वीडियो में सारस को एक परिवार खाना खिलाता हुआ नजर आ रहा है. वीडियो में एक युवक की आवाज भी सुनने को मिल रही है. वह कह रहा है कि कि,  “पक्षी विहार वाले नहीं संभाल पाए”

सारस और आरिफ की दोस्ती के वीडियो हुए थे वायरल

दरअसल ये पूरा मामला अमेठी के गौरीगंज तहसील के मटका गांव से सामने आया था. यहां का एक वीडियो पिछले दिनों काफी वायरल हुआ था. वीडियो में एक युवक और सारस की दोस्ती दिख रही थी. इस वीडियो ने सोशल मीडिया पर तहलका मचा दिया था. वीडियो में दिख रहा है कि एक युवक बाइक पर जा रहा है और पीछे से सारस हवा में उड़ता हुआ उसके पीछे आ रहा है. सारस और आरिफ की दोस्ती की चर्चा पूरे देश में फैल गई.

अखिलेश ने भी की मुलाकात

वीडियो देख अखिलेश भी आरिफ और सारस की दोस्ती देखने आरिफ के गांव आ पहुंचे. अखिलेश ने खुद सारस और आरिफ के साथ फोटो सोशल मीडिया पर शेयर किए. अखिलेश के दौरे के बाद एक बार फिर आरिश और सारस की दोस्ती हाईलाइट हो गई.

वन विभाग ने कर दिया आरिफ और सारस को अलग

मामला इतना लाइमलाइट हुआ कि अमेठी के प्रभागीय वन अधिकारी डी एन सिंह ने 14 मार्च को प्रधान मुख्य संरक्षक वन्यजीव को पत्र लिखकर राज्य पक्षी को उसके पता अनुसार समसपुर पक्षी विहार रायबरेली भेजे जाने की अनुमति मांगी. इसके बाद 20 मार्च को वहां से अनुमति मिल गई. 21 मार्च को वन विभाग सारस को अपने साथ ले गया और सारस को रायबरेली के समसपुर पक्षी विहार छोड़ दिया गया.

(शैलेंद्र प्रताप सिंह के इनपुट के साथ)

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT