बीएसपी के मालिक सतीश चंद्र मिश्रा हो गए: चंद्रशेखर आजाद

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

18 सितंबर को संगम नगर यानी प्रयागराज में आयोजित ‘यूपी तक बैठक’ में भीम आर्मी के संस्थापक व आजाद समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद ने बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) प्रमुख मायावती से लेकर यूपी में आगामी विधानसभा चुनाव पर गठबंधन के सवाल पर खुलकर अपनी बातें रखी.

चंद्रशेखर ने कहा, “मेरी बुआ से कोई नाराजगी नहीं. उन्हें लंबे समय तक वोट मिला है. उन्हें दलितों के भविष्य की निर्णायक लड़ाई पर बोलना चाहिए. 69 हजार शिक्षकों की भर्ती पर बोलना चाहिए. बीएसपी के मालिक सतीश चंद्र मिश्रा हो गए हैं. वे न जाने किन मुद्दों की बात कर रहे हैं. ये मुद्दे दलितों के मुद्दे कभी नहीं रहे.”

क्या चंद्रशेखर बीएसपी सुप्रीम मायावती को देवी मानते हैं? इसके जवाब में वह कहते हैं,

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

“मैं जाति व्यवस्था का बहिष्कार करता हूं. हम पैदा दलित नहीं होते, मैं वंचित वर्ग के बहुजन समाज की बात करता हूं. भर्ती से लेकर किसान, मजदूर सबकी बात करता हूं. एक दलित सबका नेता क्यों नहीं हो सकता. योगी जी ठाकुर हैं तो सबके नेता हो सकते हैं, हम क्यों नहीं. हमारे यहां देवी-देवता का कॉन्सेप्ट नहीं है. यहां देवियों (महिलाओं) की हत्याएं होती हैं. बिजनोर में महिला खिलाड़ी की हत्या हुई. जब कोई नहीं सुनेगा को भीम आर्मी चुनेगी. मायावती ने एक समयअच्छा किया. नेताओं को आने वाली पीढ़ी के लिए कुछ छोड़ना चाहिए.”

-चंद्रशेखर आजाद, आजाद समाज पार्टी, अध्यक्ष

गठबंधन के सवाल पर क्या बोले चंद्रशेखर आजाद?

चंद्रशेखर आजाद ने कहा, ”हमारा गठबंधन जनता के साथ है, गठबंधन तो एसपी-बीएसपी का हुआ था. एसपी गई, बीएसपी गई क्योंकि जनता ने पसंद नहीं किया. बीजेपी भी जाएगी. हमारा प्रयास होगा नौजवानों के रोजगार के मुद्दों को मुख्यधारा में लाना. हम हिंदू-मुस्लिम मुद्दे पर जाएंगे ही नहीं.”

ADVERTISEMENT

यूपी तक बैठक में चंद्रशेखर आजाद ने बीजेपी को दलित और पिछड़ा विरोधी बताया. बीजेपी में अठावले जैसे दलित नेताओं की राजनीति पर उन्होंने कहा, “ये दलित नेता कभी समाज के मुद्दों पर कुछ नहीं बोलते. दलित समाज के सबसे बड़े वर्ग वाल्मीकि समाज के हैं. पीएम ने उनके पैर धोए थे. वाल्मीकि समुदाय के सफाई कर्मचारी सीवर में मरते हैं.”

क्या कांग्रेस के साथ जाएंगे? इसपर चंद्रशेखर ने कहा, “एनसीआरबी के आंकड़ों में यूपी में महिलाओं पर अत्याचार के बढ़ते मामले देखे गए हैं. धर्म की पिच पर जो आएगा बीजेपी से मात खाएगा. हमारी विचारधारा की लड़ाई है. कांग्रेस के शासन वाले राज्यों में अच्छा काम करके दिखाएं, बीजेपी पीएम भी बनाएगी तो नहीं जाएंगे. मरना पसंद करेंगे पर संघ की विचारधारा के साथ नहीं जाएंगे.”

बीजेपी पर चंद्रशेखर आजाद ने कहा, ”वो लोग धर्म की पिच पर लाना चाहते हैं, लेकिन हम इस पर नहीं आएंगे. हमें पता है कि इस पिच पर जो भी आएगा वो बीजेपी से मात खाएगा.” बैलट के साथ बुलेट’ का जिक्र करते हुए चंद्रशेखर ने कहा कि ईवीएम से चोरी रोकने का इंतजाम भी उन्होंने कर लिया है.

ADVERTISEMENT

क्या खुद पर NSA लगाने वालों से बदला लेंगे चंद्रशेखर? इसपर आजाद समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर ने कहा, ”मैं बदलाव की बात करता हूं, बदले की नहीं. हम स्मार्ट सिटी में बैठे हैं. प्रयागराज में गड्ढे हैं. एक्सप्रेसवे पर दरारें पड़ गईं. मैं शुक्रिया अदा करता हूं सरकार का कि उन्होंने एनएसए लगाया. हम सरकार से बदला नहीं लेंगे, सुधार करेंगे. एक तरफ आरएसएस की विचारधारा है, एक तरफ बाबा साहब की. हम विचारधारा की लड़ाई लड़ रहे हैं.”

follow whatsapp

ADVERTISEMENT