केशव मौर्य का SP चीफ पर तंज, बोले- पिटाई दंगाइयों की होती है तो दर्द अखिलेश जी को होता है

केशव मौर्य का SP चीफ पर तंज, बोले- पिटाई दंगाइयों की होती है तो दर्द अखिलेश जी को होता है
एसपी प्रमुख अखिलेश यादव और डिप्टी सीएम केशव मौर्यफोटो: मनीष अग्निहोत्री/ इंडिया टुडे

उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद विरोध-प्रदर्शन के दौरान भड़की हिंसा के बाद आरोपियों पर पुलिस की कार्रवाई जारी है. अभी तक हिंसा करने के आरोप में 306 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. इसके अलावा इस मामले में अभी तक नौ जिलों में 13 प्राथमिकियां दर्ज की गई हैं. इस बीच आरोपियों के खिलाफ पुलिसिया कार्रवाई को लेकर उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव पर तंज कसा है.

उन्होंने 12 जून को ट्वीट कर कहा कि पिटाई दंगाइयों-पत्थरबाजों की होती है, दर्द श्री अखिलेश यादव जी को होता है, कारण क्या है?
फोटो: केशव प्रसाद मौर्य के ट्वीट का स्क्रीनशॉट.

बता दें कि अखिलेश यादव ने 11 जून को एक वीडियो ट्वीट कर कहा था, "उठने चाहिए ऐसी हवालात पर सवालात. नहीं तो इंसाफ खो देगा अपना इकबाल. यूपी हिरासत में मौतों के मामले में न. 1. यूपी मानवाधिकार हनन में अव्वल. यूपी दलित उत्पीड़न में सबसे आगे." इस वीडियो में पुलिस के दो जवान कई युवकों को पीटते देखे जा सकते हैं.

फोटो: केशव प्रसाद मौर्य के ट्वीट का स्क्रीनशॉट.

शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद प्रदेश के कई जिलों में हुई हिंसा के बाद आरोपियों पर हो रहे पुलिसिया एक्शन से जोड़कर इस वीडियो को देखा जा रहा है. हालांकि, इस वीडियो की लोकेशन और इसकी टाइमिंग को लेकर कोई पुष्टि नहीं हो पाई है.

सोशल मीडिया पर कुछ यूजर्स ने इसे मुरादाबाद का वीडियो बताते हुए ट्विटर पर मुरादाबाद पुलिस को टैग कर सवाल पूछे. इसके जवाब में मुरादाबाद पुलिस ने स्पष्ट किया कि यह मुरादाबाद का वीडियो नहीं है, फिर भी इसकी जांच की जा रही है.

बताते चलें कि प्रयागराज में 10 जून को हुई हिंसा मामले के कथित मास्टरमाइंड जावेद अहमद उर्फ पंप के घर पर जिला प्रशासन ने रविवार को बुल्डोजर चला दिया. प्रयागराज में शुक्रवार के हंगामे के बाद पुलिस ने तकरीबन 5000 से अधिक अज्ञात लोगों खिलाफ एफआईआर दर्ज की है, जिनमें से तकरीबन 68 से अधिक लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है.

एसपी प्रमुख अखिलेश यादव और डिप्टी सीएम केशव मौर्य
यूपी में नमाज के बाद हिंसा के मामले में अब तक 300 से अधिक आरोपी गिरफ्तार

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in