window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

क्या 2024 में गाजीपुर सीट से लड़ेंगे चुनाव? जम्मू-कश्मीर के LG मनोज सिन्हा ने दिया ये जवाब

यूपी तक

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Manoj Sinha News: यूपी की 80 लोकसभा सीटों को लेकर 2024 का रण सजता नजर आ रहा है. एक तरफ बीजेपी के नेतृत्व में एनडीए है, जो सभी सीटें जीतने का दावा कर रहा है. दूसरी तरफ सपा के साथ वाला ‘INDIA’ गठबंधन, जिसका दावा है कि यूपी में ही पीएम मोदी का विजय रथ रोक दिया जाएगा. इस बीच यूपी की एक लोकसभा सीट को लेकर तमाम सियासी चर्चाएं चल रही हैं. यह सीट है गाजीपुर लोकसभा. पिछले दिनों अफजाल अंसारी को 2 साल से अधिक सजा मिलने पर यह सीट खाली हो गई. इस सीट पर अभी तक उपचुनाव नहीं कराया जा सका है, जबकि घोसी विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए 5 सितंबर को वोटिंग होनी है. गाजीपुर सीट को लेकर अक्सर ये चर्चा सामने आती है कि क्या जम्मू-कश्मीर के वर्तमान एलजी मनोज सिन्हा 2024 का चुनाव यहां से लड़ेंगे? इसके अलावा ओम प्रकाश राजभर के एनडीए के साथ आ जाने के बाद से भी इस सीट को लेकर दावेदारी बढ़ गई है.

ऐसे में हमने सीधे मनोज सिन्हा से ही जानना चाहा कि 2024 के चुनाव को लेकर उनका रुख क्या है. इंडिया टुडे के डिजिटल चैनल और हमारे सहयोगी ‘दी लल्लनटॉप’ के एक इंटरव्यू में मनोज सिन्हा से सीधा सवाल पूछा गया कि ‘क्या आप 2024 में एक बार फिर गाजीपुर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ेंगे?’ इस सवाल के जवाब में सिन्हा ने कहा, “मैं आगे क्या करूंगा अभी नहीं सोचा रहा हूं. मैं अभी जहां हूं वहां अपनी पूरी क्षमता, विवेक से काम कर सकूं…जो जिम्मेदारी मुझे प्रधानमंत्री जी ने दी है, उस जिम्मेदारी का ईमानदारी से निर्वहन कर सकूं. यही प्राथमिकता है.”

’24 में क्या होगा मैं इस चक्कर में नहीं पड़ना चाहता’

उन्होंने आगे कहा, “मेरे यहां तीन साल पूरे होने वाले हैं. जब मैं मूल्यांकन करूं तो मुझे इस बात का संतोष रहे कि जम्मू कश्मीर के आम आदमी के जीवन में बदलाव हुआ है. यहां प्रॉस्पेरिटी आए, यहां शांति रहे यह मेरे लिए महत्वपूर्ण है. 24 में क्या होगा मैं इस चक्कर में नहीं पड़ना चाहता हूं. यह मैं जानता हूं कि अच्छा काम करेंगे तो जो होगा वो अच्छा होगा.”

2019 में सिन्हा हार गए थे गाजीपुर से चुनाव

गौरतलब है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में मनोज सिन्हा ने गाजीपुर लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी के टिकट चुनाव लड़ा था. इस चुनाव में माफिया मुख्तार अंसारी के बड़े भाई अफजाल अंसारी ने उन्हें मात दे दी थी. अंसारी ने बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ा था.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

क्यों चर्चा में है गाजीपुर सीट

दरअसल, गैंगस्टर मामले में दो साल से ज्यादा की सजा मिलने के बाद अफजाल अंसारी की संसद सदस्यता समाप्त हो गई है. फिलहाल वह जमानत पर बाहर हैं. वहीं, घोसी में विधानसभा उपचुनाव की घोषणा के बाद सियासी गलियारों में इस बात की चर्चा तेज हो गई है कि आखिर किन कारणों की वजह से गाजीपुर लोकसभा उपचुनाव की घोषणा नहीं हुई है?

क्या अपने बेटे को चुनाव लड़वाना चाहते हैं मनोज सिन्हा?

सियासी गलियारों में ऐसी चर्चा है कि मनोज सिन्हा गाजीपुर लोकसभा सीट से अपने बेटे अभिनव सिन्हा को लॉन्च करना चाहते हैं. अब इस बात में कितना दम है, या तो आने वाला वक्त ही बता पाएगा. देखना यह भी रोचक होगा कि क्या ओम प्रकाश राजभर बीजेपी से गाजीपुर की यह लोकसभा सीट अपने खाते में ले पाते हैं या नहीं.

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT