मैनपुरी उपचुनाव: SP ने शिवपाल को बनाया स्टार प्रचारक, फिर भी BJP प्रत्याशी ने किया ये दावा

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Mainpuri Byelection: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने उत्तर प्रदेश की मैनपुरी सीट पर लोकसभा उपचुनाव में समाजवादी पार्टी की डिंपल यादव के खिलाफ मंगलवार को पूर्व सांसद रघुराज सिंह शाक्य को अपना उम्मीदवार घोषित किया. शाक्य एक समय शिवपाल यादव के करीबी माने जाते थे लेकिन प्रगतिशील समाजवादी पार्टी से इस्तीफा देकर वे इस वर्ष भाजपा में शामिल हो गए थे. बता दें कि अपने नाम की घोषणा होने के बाद शाक्य ने यूपी तक से खास बातचीत में कहा था कि उन्हें आगामी उपचुनाव में शिवपाल यादव का आशीर्वाद मिलेगा. मगर मंगलवार को ही समाजवादी पार्टी ने मैनपुरी उपचुनाव के लिए अपने स्टार प्रचारक के रूप में शिवपाल सिंह यादव के नाम की घोषणा कर दी. वहीं, शिवपाल का नाम स्टार प्रचारक की लिस्ट में आने के बाद एक फिर शाक्य ने बड़ा दावा दिया है.

रघुराज शाक्य ने यूपी तक से कहा,

“मैंने कहा था कि हम आशीर्वाद सबसे लेंगे. गुरु का चेला अगर आगे बढ़ता है तो उसे खुशी होती है. चौधरी चरण सिंह जी के शिष्य मुलायम सिंह यादव जी थे. अजीत सिंह उनके बेटे थे. नेताजी कहां से कहां पहुंच गए, अजित सिंह जी का क्या हाल हुआ.”

रघुराज शाक्य

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

बता दें कि सपा के प्रधान महासचिव राम गोपाल यादव द्वारा चुनाव आयोग को जो सूची भेजी गई उनमें प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के संस्थापक शिवपाल यादव समेत 40 नाम हैं. हालांकि सोमवार को सपा की उम्मीदवार डिंपल यादव के मैनपुरी में नामांकन दाखिल करने के समय शिवपाल सिंह यादव और उनके बेटे आदित्य यादव मौजूद नहीं थे.

सपा के संस्थापक मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद मैनपुरी संसदीय सीट खाली हुई। यहां उपचुनाव पांच दिसंबर को होंगे और परिणाम की घोषणा आठ दिसंबर को की जाएगी.

डिंपल की उम्मीदवारी और सपा के चुनाव प्रचारकों की सूची में शिवपाल का नाम शामिल किए जाने पर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी से फिलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है. मैनपुरी उप चुनाव में मुलायम के छोटे भाई शिवपाल की भूमिका को लेकर राजनीतिक गलियारों में खासी चर्चा है.

सपा संस्थापक की विरासत को बचाए रखने के लिए मैनपुरी लोकसभा सीट से डिंपल यादव की उम्मीदवारी की घोषणा के तुरंत बाद पार्टी ने इस सीट पर बड़ी जीत सुनिश्चित करने के लिए तैयारियों शुरू कर दी हैं. इस सीट पर 1996 से ही सपा का उम्मीदवार निर्वाचित होता रहा है.

ADVERTISEMENT

मैनपुरी उपचुनाव: एक तरफ मुलायम की बहू डिंपल तो दूसरी ओर शिष्य! शिवपाल किसके साथ जाएंगे?

ADVERTISEMENT

follow whatsapp

ADVERTISEMENT