लखीमपुर खीरी हिंसा | कांग्रेस से उम्मीद लगा रहे लोगों को प्रशांत किशोर ने दिया ये मैसेज

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

चुनावी रणनीतिकार के तौर पर अपनी पहचान बनाने वाले प्रशांत किशोर ने शुक्रवार को कहा कि लखीमपुर खीरी मामले से कांग्रेस की अगुवाई में विपक्ष के उठ खड़े होने की उम्मीद लगा रहे लोगों को निराशा हो सकती है क्योंकि देश की सबसे पुरानी पार्टी से जुड़ी समस्याओं का कोई त्वरित समाधान नहीं है.

इस पर कांग्रेस ने उनकी टिप्पणी को ज्यादा तवज्जो न देने की कोशिश करते हुए कहा कि राजनीति में जनता जिसे चाहेगी, वह आगे बढ़ेगा और इस समय राहुल गांधी और प्रियंका गांधी जनता की लड़ाई लड़ रहे हैं.

प्रशांत किशोर ने यह टिप्पणी उस वक्त की है जब कुछ हफ्ते पहले तक उनके कांग्रेस में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही थीं. उनकी इस टिप्पणी से ऐसा लग रहा है कि उनके फिलहाल कांग्रेस में शामिल होने की संभावना धूमिल हो गई है.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

किशोर ने ट्वीट कर लिखा, ”लखीमपुर खीरी की घटना के आधार पर देश की सबसे पुरानी पार्टी की अगुवाई में विपक्ष के त्वरित और स्वाभाविक रूप से उठ खड़े होने की उम्मीद लगा रहे लोग निराश हो सकते हैं. दुर्भाग्यवश सबसे पुरानी पार्टी में लंबे समय से घर कर चुकी समस्याओं और ढांचागत कमजोरियों का कोई त्वरित समाधान नहीं है.”

इस पर कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं किसी कंसल्टेंट की टिप्पणी पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दूंगा… राजनीति में सबको आगे बढ़ने का अधिकार है. जनता जिसे चाहेगी वही आगे बढ़ेगा. जमीन पर जनता की लड़ाई राहुल गांधी और प्रियंका गांधी लड़ रहे हैं.’’

3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को वहां जाते समय कस्टडी में ले लिया गया था. इस बारे में 5 अक्टूबर को जारी किए गए बयान में प्रियंका ने कहा था, ”डीसीपी पीयूष कुमार सिंह, सीओ सिटी, सीतापुर की ओर से मुझे मौखिक रूप से सूचित किया गया कि मुझे 4 अक्टूबर 2021 को सुबह 4.30 बजे धारा 151 के तहत गिरफ्तार किया गया.”

ADVERTISEMENT

इसके बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और (रिहाई होकर) प्रियंका गांधी ने पीड़ित परिवारों से मुलाकात की थी.

यूपी के लखीमपुर खीरी के तिकुनिया इलाके में 3 अक्टूबर को भारी हिंसा हुई थी. इस हिंसा में 8 लोगों की मौत हो गई. हिंसा की यह घटना तिकुनिया से 4 किलोमीटर दूर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के पैतृक गांव बनवीरपुर में आयोजित कुश्ती कार्यक्रम में यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के पहुंचने से पहले हुई. इस मामले में टेनी के बेटे आशीष मिश्रा समेत कई लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है.

ADVERTISEMENT

(न्यूज एजेंसी भाषा के इनपुट्स के साथ)

लखीमपुर खीरी में अपने घर पर है मेरा बेटा, कल होगा पुलिस के सामने पेश: अजय मिश्रा टेनी

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT