‘यूपी को बुलडोजर की जगह जनरेटर की जरूरत’- अखिलेश ने योगी सरकार पर यूं कसा तंज

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

उत्तर प्रदेश में के हजारों बिजली कर्मचारी 72 घंटे की हड़ताल पर हैं. बिजली कर्मियों की हड़ताल से प्रदेश की बिजली व्यवस्था चरमराई हुई है. बिजली कर्मचारी जहां अपनी मांगों को लेकर डटे हुए हैं तो वहीं सरकार भी झुकने के लिए तैयार नहीं है. इसी बीच समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव का बड़ा बयान सामने आया है. अखिलेश ने भारतीय जनता पार्टी की सरकार को लेकर तंज कसा है.

जानिए क्या कहा अखिलेश यादव ने

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने भारतीय जनता पार्टी की सरकार को निशाने हुए ट्वीट किया, “डबल इंजन की सरकार में उत्तर प्रदेश को बिना बिजली के रहने का अभिशाप मिला है. बच्चे-बूढ़े परेशान हैं, मरीज़ों का हाल बेहाल है, व्यापार-कारोबार ठप्प है और प्रशासन की बत्ती गुल है.”

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

बुलडोजर को लेकर भी कसा योगी सरकार पर तंज

अखिलेश यादव ने बुलडोजर पर भी तंज कसते हुए ट्वीट किया, “भाजपा सरकार समझ ले कि उत्तर प्रदेश को बुलडोज़र की जगह जेनरेटर की ज़रूरत है.”

ADVERTISEMENT

उत्पादन निगमों की 5 इकाइयां हुई ठप और 33/11 केवी उपकेंद्रों की आपूर्ती चरमराई

बता दें कि बिजली कर्मियों की हड़ताल को प्रदेश में व्यापर असर देखने को मिल रहा है. बिजली कर्मी संघर्ष समिति के पदाधिकारी शैलेंद्र दुबे ने दावा करते हुए बताया है कि इस हड़ताल से उत्पादन निगमों की की 5 इकाइयां ठप हो गई हैं तो वहीं पारेषण की कई लाइनें बंद हैं. हड़ताल से  व्यापक पैमाने पर 33/11 केवी उपकेंद्रों की आपूर्ति व्यवस्था चरमरा गई है.

ADVERTISEMENT

समिति के पदाधिकारियों का दावा है कि इस हड़ताल से अनपरा में 210-210 मेगावाट क्षमता की 2 इकाइयां, ओबरा में 200-200 मेगा वाट क्षमता की 9 एवं 11 नंबर की इकाई, पारीछा में 210 मेगा वाट क्षमता की 3 नंबर की इकाई बंद करनी पड़ी है.

इसी के साथ यूपी के कई हिस्सों से बिजली आपूर्ति ठप या घंटों बाधित होने की खबर सामने आ रही है. अब देखना यह है कि सरकार और बिजली कर्मियों के बीच समझौता होता है या ये गतिरोध यूं ही बना रहेगा.

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT