window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

चंद्रशेखर की ‘स्टाइल ऑफ पॉलिटिक्स’ से आकाश आनंद को परहेज! क्या उनके खिलाफ लड़ेंगे चुनाव?

यूपी तक

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Akash Anand News: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती के भतीजे और पार्टी के नैशनल कोऑर्डिनेटर आकाश आनंद इन दिनों सुर्खियों में हैं. दरअसल, आनंद ने बुधवार को धौलपुर से संकल्प यात्रा के जरिए राजस्थान में चुनाव प्रचार अभियान शुरू किया है. राजनीतिक जानकारों के अनुसार, मायावती अब अपने भतीजे को बसपा का नेतृत्व सौंपने की तैयारी कर रही हैं. हालांकि इस दावे में कितनी सचाई है ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा. इस बीच यूपी Tak के सहयोगी चैनल राजस्थान तक ने आकाश आनंद से खास बातचीत की है. इस बातचीत में उन्होंने आजाद समाज पार्टी के मुखिया चंद्रशेखर आजाद को लेकर बड़ा बयान दिया है. दरअसल, आकाश ने चंद्रशेखर के पॉलिटिक्स करने की स्टाइल पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं. आगे जानिए आकाश आनंद ने क्या-क्या कहा?

सवाल: दलित अत्याचार के खिलाफ चंद्रशेखर आजाद ने धरने दिए, लेकिन बीएसपी नहीं दिखी?

जवाब- “बसपा का लोगों को न्याय दिलाने का तरिका बहुत अलग है. चंद्रशेखर जिस टाइप का काम करते हैं…उससे हमारे युवाओं को नुकसान पहुंचता हैं. उनके खिलाफ मुकदमें दर्ज हो जाते हैं. उनको आगे सरकारी नौकरियों में मौका नहीं मिल पाता हैं.”

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

मायावती को लेकर आकाश ने ये कहा

आकाश आनंद ने कहा, “यूपी में बहन मायावती ने अनेकों काम किए. बहन मायावती से मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री को सीख लेनी चाहिए.”

अपने समर्थकों को संदेश देते हुए आकाश आनंद ने कहा, “जब तुम्हारे सिर पर शेरनी बहन मायावती का हाथ है, तो क्यों घबराते हो. कभी ना झुकना और कभी ना डरना, अपनी जिंदगी को अपनी शर्तों पर जियो.”

‘चंद्रशेखर लोकसभा चुनाव लड़ते हैं, तो क्या आप उनके खिलाफ चुनाव लड़ेंगे?’ आपको बता दें कि जब चंद्रशेखर से यह सवाल पूछा गया तो उन्होंने इसका उत्तर नहीं दिया. अब वक्त बताएगा कि आकाश, चंद्रशेखर के खिलाफ चुनाव लड़ते हैं या नहीं?

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT