राहुल गांधी के 'ऑफर' वाले बयान पर बिफरीं मायावती, निशाने पर लिया, सुना दिया ये सब

राहुल गांधी के 'ऑफर' वाले बयान पर बिफरीं मायावती, निशाने पर लिया, सुना दिया ये सब
फोटो कोलाज: यूपी तक

उत्तर प्रदेश विधासनभा चुनाव 2022 में कांग्रेस को मिली करारी हार के बाद पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को एक बड़ा बयान दिया, जिससे सियासी गलियारों में हलचल मच गई. राहुल गांधी ने कहा कि उनकी पार्टी ने यूपी विधानसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) सुप्रीमो मायावती को गठबंधन करने और मुख्यमंत्री पद का चेहरा बनने की पेशकश की थी, लेकिन उन्होंने बात तक नहीं की. वहीं, राहुल के इन आरोपों पर रविवार को मायावती ने पलटवार किया. मायावती ने कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष की बात तथ्यहीन और पूरी तरह से गलत है.

बीएसपी चीफ ने कहा,

"कल (शनिवार) कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष श्री राहुल गांधी ने हमारी पार्टी व खासकर पार्टी की मुखिया को लेकर जो कुछ टीका-टिप्पणी की है तो उससे इस पार्टी की विशेषकर दलितों और अन्य उपेक्षित वर्गों के साथ-साथ बीएसपी के प्रति भी हीन व जातिवादी मानसिकता तथा द्वेष की भावना भी साफ झलकती है."

मायावती

अहम बिंदु

मायावती ने कहा, "बीएसपी को कमजोर करने के लिए शुरू से ही कांग्रेस पार्टी हर तरह के हथकंडे इस्तेमाल कर रही है. अब तो खिसियानी बिल्ली खंबा नोचे की तरह ही कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अपने बिखरे हुए घर को संभाल नहीं पा रहे हैं, जबकि हमारी पार्टी की शैली पर जबरदस्ती उंगली उठा रहे हैं. इससे बीएसपी के प्रति इनकी जबरदस्त नफरत साफ नजर आती है."

बीएसपी सुप्रीमो ने कहा, "स्वर्गीय श्री राजीव गांधी जी ने बीएसपी को बदनाम व कमजोर करने के लिए मान्यवर श्री कांशीराम जी को सीआईए का एजेंट बता दिया था और अब इन्हीं के ही पदचिह्नों पर चलकर इनके बेटे श्री राहुल गांधी भी बीएसपी की मुखिया पर आए दिन बीजेपी के साथ मिलने का ये कहकर गलत आरोप लगाते रहते हैं कि बीएसपी की मुखिया बीजेपी की सीबीआई, ईडी व आदि से डरती हैं. इसलिए वह बीजेपी के साथ काफी नर्म रुख रखती हैं, जिसमें रत्ती भर सच्चाई नहीं है."

मायावती ने कहा कि राहुल गांधी की ये बात पूरी तरह गलत और तथ्यहीन कि उन्होंने उन्हें यूपी विधानसभा चुनाव में सीएम बनाने का ऑफर दिया था.

आपको बता दें कि शनिवार को राहुल गांधी ने कहा था कि उनकी पार्टी ने बीएसपी की प्रमुख मायावती को उत्तर प्रदेश में गठबंधन करने और मुख्यमंत्री पद का चेहरा बनने की पेशकश की थी, लेकिन उन्होंने बात तक नहीं की

मायावती ने बीजेपी को भी घेरा

बीएसपी मुखिया ने कहा, "बीजेपी एंड कंपनी के लोग साम-दाम-दंड-भेद आदि हथकंडों को अपना कर भारत को कांग्रेस मुक्त ही नहीं बल्कि विपक्ष विहीन बनाकर पंचायत से संसद तक चीन जैसा ही एक पार्टी सिस्टम बनाकर देश के लोकतंत्र व इसके संविधान को ही खत्म करना चाहते हैं."

राहुल गांधी के 'ऑफर' वाले बयान पर बिफरीं मायावती, निशाने पर लिया, सुना दिया ये सब
बढ़ती महंगाई का मुद्दा उठाते हुए मायावती बोलीं- 'केंद्र सरकार इस मामले को गंभीरता से ले'

संबंधित खबरें

No stories found.