आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव: जमाली बोले- 'मुझे BSP छोड़कर नहीं जाना चाहिए था, गलती हुई थी'

आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव: जमाली बोले- 'मुझे  BSP छोड़कर नहीं जाना चाहिए था, गलती हुई थी'
आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव के बीएसपी प्रत्याशी शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली.फोटो: राजीव कुमार, यूपी तक

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में होने वाले लोकसभा उपचुनाव को लेकर राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं. एक तरफ जहां भारतीय जनता पार्टी ने दिनेश लाल यादव 'निरहुआ' को अपना प्रत्याशी घोषित किया है तो वहीं समाजवादी पार्टी ने काफी जद्दोजहद के बाद परिवार के धर्मेंद्र यादव को प्रत्याशी बनाया है. वहीं बहुजन समाज पार्टी के तरफ से शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली चुनावी मैदान में हैं.

इस बीच, यूपी तक से एक्सक्लूसिव बातचीत के दौरान गुड्डू जमाली ने कबूल किया कि उनसे गलती हुई थी उन्हें बहुजन समाज पार्टी छोड़कर नहीं जाना चाहिए था. उन्होंने कहा कि उनका यह फैसला गलत रहा, लेकिन वह एआईएमआईएम की तारीफ करने से भी पीछे नहीं हटे.

गौरतलब है कि यूपी विधानसभा चुनाव 2022 के दौरान गुड्डू जमाली ने बीएसपी छोड़ने के बाद एआईएमआईएम में शामिल हो गए थे. इसके बाद आजमगढ़ जिले के मुबारकपुर सीट से गुड्डू जमाली एआईएमआईएम के उम्मीदवार के रूप में चुनाव मैदान में थे, मगर उन्हें हार का सामना करना पड़ा था. चुनाव परिणाम के बाद उन्होंने फिर से बीएसपी का दामन थाम लिया.

खास बातचीत के दौरान जमाली ने जमकर विपक्षी पार्टियों पर वार करते हुए कहा कि चाहे वे मजार पर चादर चढ़ाएं या पूजा पाठ करें, जीत हमारी ही होनी है. जहां-जहां यह लोग मन्नते मांगने जा रहे हैं वहां से हमें ही आशीर्वाद मिल रहा है. हम धर्म-जाति-संप्रदाय की राजनीति से उठकर इंसानियत की लड़ाई लड़ने आए हैं.

उन्होंने कहा कि अपने द्वारा आम जनता के लिए जो संभव होता है हम उनकी मदद पहले भी करते रहे हैं और आगे भी करते रहेंगे. जमाली ने कहा कि एक बार जनता हमें भी अपना आशीर्वाद दें. अगर लगता है कि मेरे में कोई कमी है तो बेशक हमें दोबारा ना चुनें.

उन्होंने कहा कि हम यहां के स्थानीय हैं और स्थानीय पैठ रखते हैं. आम जनता के लिए हमेशा खड़े रहेंगे, हमारी पार्टी, हमारा प्रयास सर्वदा आम जनता के लिए सर्वजन के लिए रहेगा.

आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव के बीएसपी प्रत्याशी शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली.
आजमगढ़ उपचुनाव जीतने पर अहीर रेजिमेंट बनवाएंगे निरहुआ? जानें PM मोदी से क्या हुई बात

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in