हवालात में पीट रही पुलिस? वीडियो पर अखिलेश ने उठाए सवाल, BJP विधायक भी कर चुके हैं शेयर

हवालात में पीट रही पुलिस? वीडियो पर अखिलेश ने उठाए सवाल, BJP विधायक भी कर चुके हैं शेयर
अखिलेश ने कहा कि उठने चाहिए ऐसी हवालात पर सवालात. नहीं तो इंसाफ खो देगा अपना इकबाल. फोटो कोलाज: यूपी तक

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एक वीडियो ट्वीट कर परोक्ष रूप से प्रदेश की योगी सरकार पर निशाना साधा है. इस वीडियो में पुलिस के दो जवान कई युवकों को पीटते देखे जा सकते हैं.

शनिवार को अखिलेश ने इस वीडियो को ट्वीट कर कैप्शन में लिखा, "उठने चाहिए ऐसी हवालात पर सवालात. नहीं तो इंसाफ खो देगा अपना इकबाल. यूपी हिरासत में मौतों के मामले में न. 1. यूपी मानवाधिकार हनन में अव्वल. यूपी दलित उत्पीड़न में सबसे आगे."
फोटो: अखिलेश यादव के ट्वीट का स्क्रीनशॉट.

गौरतलब है कि अखिलेश के द्वारा यह वीडियो ट्वीट करने से पहले देवरिया से बीजेपी विधायक शलभ मणि त्रिपाठी ने इसी वीडियो को ट्वीट किया था. जिसपर सोशल मीडिया पर बवाल मच गया. उन्होंने इस वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा था, 'बलवाइयों को “रिटर्न गिफ़्ट” !!'.

फोटो: शलभ मणि त्रिपाठी के ट्वीट का स्क्रीनशॉट.
शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद प्रदेश के कई जिलों में हुई हिंसा के बाद आरोपियों पर हो रहे पुलिसिया एक्शन से जोड़कर इस वीडियो को देखा जा रहा है. हालांकि, इस वीडियो की लोकेशन और इसकी टाइमिंग को लेकर कोई पुष्टि नहीं हो पाई है.

सोशल मीडिया पर कुछ यूजर्स ने इसे मुरादाबाद का वीडियो बताते हुए ट्विटर पर मुरादाबाद पुलिस को टैग कर सवाल पूछे. इसके जवाब में मुरादाबाद पुलिस ने स्पष्ट किया कि यह मुरादाबाद का वीडियो नहीं है, फिर भी इसकी जांच की जा रही है.

बता दें कि शनिवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर हिंसा और इसके बाद विभिन्न जिलों में शुक्रवार को नमाज के बाद हुई हिंसा को लेकर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों से उपद्रवियों पर सख्ती से कार्रवाई करने का निर्देश दिया है.

उन्होंने कहा कि उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई ऐसी हो जो असामाजिक तत्वों के लिए एक नजीर बने और माहौल बिगाड़ने के बारे में कोई सोच भी न सके.

धर्मगुरुओं/सिविल सोसाइटी से सतत संवाद-संपर्क बनाए रखने की हिदायत के साथ योगी ने अधिकारियों से दो टूक कहा कि ''इसके साथ-साथ उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई भी जारी रखी जाए और कार्रवाई ऐसी हो जो असामाजिक सोच रखने वाले सभी तत्वों के लिए एक नजीर बने। माहौल बिगाड़ने के बारे में कोई सोच भी न सके.''

मुख्यमंत्री ने कहा कि शरारतपूर्ण बयान जारी करने वालों के साथ कत्तई बर्दाश्त नहीं की नीति के साथ कड़ाई से पेश आयें.

सीएम योगी ने और क्या-क्या निर्देश दिए, यह जानने के लिए नीचे दी गई लिंक पर क्लिक करें.

अखिलेश ने कहा कि उठने चाहिए ऐसी हवालात पर सवालात. नहीं तो इंसाफ खो देगा अपना इकबाल.
नमाज के बाद हुई हिंसा पर CM योगी बोले- 'उपद्रवियों के खिलाफ ऐसी कार्रवाई हो जो नजीर बने'

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in