अब शिव की नगरी काशी से मिर्जापुर को जोड़ते हुए प्रयागराज तक जाएगा क्रूज

अब शिव की नगरी काशी से मिर्जापुर को जोड़ते हुए प्रयागराज तक जाएगा क्रूज
फोटो: यूपी टूरिज्म, ट्विटर

मां गंगा में चलने वाले क्रूज का दायरा अब शिव की नगरी से शक्ति की नगरी होते हुए संगम तक होगा. काशी से चलने वाला क्रूज अपने पहले पड़ाव में जहां मिर्ज़ापुर में जाएगा, वहीं प्रयागराज में क्रूज की यात्रा का समापन होगा.

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश कर क्रूज़ की यात्रा का दायरा बढ़ाया जाएगा. इसके लिए प्रस्ताव तैयार कर लिया गया है. जल्द ही इसकी शुरुआत होगी.

काशी के घाटों के अद्भुत नजारे के साथ क्रूज अपना सफर शुरू करता है. पिछले साल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर इसका दायरा बढ़ाकर चुनार के किले (मिर्ज़ापुर) तक किया गया था. यही क्रूज मिर्ज़ापुर से होता हुआ संगम जाएगा. यानि ये क्रूज़ अब पर्यटकों को चुनार के किले और मां विंध्यावासिनी के दर्शन कराते हुए विंध्य क्षेत्र में रात्रि प्रवास का मौका देगा. साथ ही अगले दिन संगम दर्शन कराएगा.

क्रूज़ पर पर्यटक बनारसी खान-पान के साथ सुरीला संगीत सुन सकेंगे. काशी से प्रयाग तक के सफर में गंगा की लहरों पर चलने का रोमांच एक नई तरह का अनुभव देगा.

काशी कॉरिडोर बनने के बाद काशी आने वालों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है. ऐसे में ये क्रूज अब उनको तीन प्रमुख धार्मिक और सांस्कृतिक स्थलों काशी, विंध्याचल और संगम तक के सफर का मौका देगा. जाहिर है पर्यटन विभाग को गंगा पर चलने वाले क्रूज का दायरा बढ़ने से पर्यटकों की संख्या बढ़ने की भी उम्मीद है.

इधर, विंध्याचल कॉरिडोर बनने के बाद मिर्ज़ापुर में भी ज़्यादा लोगों के पहुंचने की उम्मीद है. विंध्य कॉरिडोर का निर्माण योगी सरकार के दूसरे कार्यकाल की प्राथमिकताओं में शामिल है.

अब शिव की नगरी काशी से मिर्जापुर को जोड़ते हुए प्रयागराज तक जाएगा क्रूज
काशी कॉरिडोर का उद्घाटन: भव्य रहेगा गंगा आरती का नजारा, जब पीएम मोदी क्रूज से निहारेंगे

संबंधित खबरें

No stories found.