चंदौली में निशा की मौत मामले में मजिस्ट्रियल जांच शुरू, पुलिस की पिटाई से डेथ का है आरोप

चंदौली में निशा की मौत मामले में मजिस्ट्रियल जांच शुरू, पुलिस की पिटाई से डेथ का है आरोप
फोटो: यूपी तक

उत्तर प्रदेश के चंदौली में पिछले दिनों हुई निशा यादव की मौत को लेकर मजिस्ट्रियल जांच शुरू हो गई है. चंदौली के डीएम संजीव सिंह ने जांच की जिम्मेदारी चंदौली सदर के एसडीएम अवनीश कुमार को दी है. एसडीएम अवनीश कुमार 15 दिनों में जांच पूरा करेंगे और रिपोर्ट डीएम संजीव सिंह को सौपेगे.

अहम बिंदु

पिछले 1 मई की शाम को पूर्वी उत्तर प्रदेश के चंदौली में पुलिस पर गंभीर आरोप लगे थे. सैयदराजा थाना क्षेत्र के मनराजपुर गांव में जिलाबदर कन्हैया यादव नाम के शख्स के घर पुलिस दबिश देने गई थी. पुलिस पर आरोप लगे थे कि दबिश के दौरान पुलिस ने घर में मौजूद निशा यादव और गुंजा यादव नाम की दो बहनों के साथ मारपीट की है और पुलिस की मारपीट से निशा यादव की मौत हो गई.

इसके बाद मनराजपुर गांव में जमकर हंगामा हुआ था. मौके पर पहुंचे आला अधिकारियों ने पीड़ित परिजनों के आरोप पर तत्काल कार्रवाई करते हुए सैयदराजा थाने के एसएचओ को सस्पेंड कर दिया. परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने सैयदराजा थाने के एसएचओ सहित आधा दर्जन पुलिसकर्मियों पर गैर इरादतन हत्या का मुकदमा भी दर्ज कर लिया. डॉक्टर के पैनल ने पोस्टमार्टम किया था. पोस्टमार्टम की रिपोर्ट जब सामने आई थी तो उसमें पुलिस अधिकारियों ने बताया था कि निशा के शरीर पर सिर्फ दो जगह चोट के निशान हैं और मौत का कारण गौड़ है.

उधर पुलिस ने इस मामले की जांच पड़ताल के लिए टीम भी गठित कर दी और फॉरेंसिक टीम को भी लगाया गया था. फॉरेंसिक एक्सपर्ट की टीम पूरे मामले की गहन जांच पड़ताल कर रही है. साथ ही पोस्टमार्टम की रिपोर्ट के रिव्यू के लिए मेडिको लीगल टीम को भी भेजा गया था. मेडिको लीगल लखनऊ की टीम अपनी रिपोर्ट चंदौली के एसपी को सौंपी है.

इस घटना की मजिस्ट्रियल जांच के संदर्भ में चंदौली के डीएम संजीव सिंह ने बताया कि पूरे प्रकरण की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश जारी कर दिए गए थे. जिस क्रम में चंदौली सदर के एसडीएम अवनीश कुमार ने अपनी जांच शुरू कर दी है. उन्होंने बताया कि 15 दिनों के अंदर जांच रिपोर्ट प्रेषित करने के निर्देश दिए गए हैं.

संबंधित खबरें

No stories found.