बस्ती: डिजिटल इंडिया में ‘डिजिटल शगुन’, मुस्लिम परिवार ने किया पीएम मोदी का सपना साकार

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

वर्तमान समय में डिजिटल पेमेंट ने लोगों की जिंदगी बहुत आसान बना दी है. हर जगह डिजिटल पेमेंट की सुविधा उपलब्ध हो चुकी है. डिजिटल भुगतान दुनिया में क्रांति ला दी है और बिना किसी परेशानी के तुरंत फंड ट्रांसफर करना आसान बना दिया है. वहीं अब शादियों में भी लोग डिजिटल शगुन दे रहे हैं. ऐसा ही कुछ नजारा दिखा उत्तर प्रदेश के बस्ती में एक शादी में.

बस्ती के एक मुस्लिम परिवार ने प्रियजनों से शादी के उपहार इकट्ठा करने का एक दिलचस्प तरीका खोजा है. परिवार ने पीएम मोदी के आह्वान को तरजीह देते हुए,ऑनलाइन शगुन लेने का तरीका इस्तेमाल किया.

परिवार ने जिसमें उन्होंने गूगल पे और फोन पे के स्कैनर कोड मंगाए और शगुन के टेबल पर रख दिया. जिसके बाद लोगों ने इस बार कोड का बढ़-चढ़कर इस्तेमाल किया और शादी के दिए जाने वाले शगुन के रुपयों को ऑनलाइन ट्रांसफर किया. लोग गूगल पे या फोनपे के माध्यम से दूल्हा-दुल्हन को पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं. बता दें कि डिजिटल भुगतान दुनिया में क्रांति ला दी है और बिना किसी परेशानी के तुरंत फंड ट्रांसफर करना आसान बना दिया है. डिजिटल पेमेंट बड़े- छोटे शहरों में छोटे बिजनेसमैन और रेहड़ी-पटरी वालों के बीच भी लोकप्रिय हो गया है.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

प्रधानमंत्री के ऑनलाइन लेनदेन की अपील बस्ती में साकार होते नजर आ रही.कई बार ये गिफ्ट लेने और देने वाले दोनों के लिए बोझिल साबित होते हैं, ऐसे में लिफाफे में नकदी डालकर देने की परंपरा को लोगों ने पसंद किया. अब क्यूआर कोड की एक नई परंपरा सामने आई है, इसे प्रयोग के तौर पर लोग बखूबी अपना रहे हैं.

वहीं इस शादी में आए हुए लोगों ने कहा की सारी दुनिया कैशलेस हो रही है और इस शादी विवाह में क्यूआर कोड का इस्तेमाल कर बहुत अच्छा किया है. अब लोगों को अब लिफाफा खरीद कर उसमें पैसा देने की जरूरत नहीं है. लोग अपने मोबाइल फोन पर गूगल पे या फोन पे कर आसानी से अपने उपहार को दे सकते हैं. इसके प्रयोग से लिखा पढ़ी करने का बोझ कम हो जाता है.

OMG! मछुआरों ने नदी में डाला जाल और हाथ लग गई ऐसी चीज की हैरान रह गए सभी, वीडियो वायरल

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT