window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

IIT नहीं, प्रयागराज के इस सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज के स्टूडेंट्स का हुआ 100 फीसदी प्लेसमेंट

आनंद राज

ADVERTISEMENT

प्रयागराज के MNIT कॉलेज के स्टूडेंट्स का हुआ 100 फीसदी प्लेसमेंट
प्रयागराज के MNIT कॉलेज के स्टूडेंट्स का हुआ 100 फीसदी प्लेसमेंट
social share
google news

जहां एक ओर प्रयागराज जिले को आईएएस-पीसीएस की फैक्ट्री कहा जाता है तो वहीं इंजीनियरिंग कॉलेजों में एमएनआईटी कॉलेज भी किसी मामले में पीछे नहीं है. दरअसल, मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एमएनआईटी) में पिछले 5 सालों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं का 100 फीसदी प्लेसमेंट हुआ है. यही वजह है कि भारत के चुनिंदा कॉलेजों में तीसरे नंबर के कॉलेज की गिनती होती है.

साल 1961 में कॉलेज बना था और अब तक इंजीनियरिंग की पढ़ाई में पूरे भारत में तीसरे नंबर पर कॉलेज आता है. पिछले 5 सालों से एमएनआईटी में प्लेसमेंट के मामले में 100 फीसदी कॉलेज के छात्र-छात्राएं पढ़ाई पूरी करने के बाद जॉब पाए हैं. यही नहीं, इस कॉलेज में प्लेसमेंट के लिए साल भर इंटरव्यू चलता रहता है. अब बाहर की कंपनियां छात्र-छात्राओं को सेलेक्ट करती हैं और उनके हिसाब से जॉब देती हैं.

इस साल भी 100 परसेंट प्लेसमेंट

इंजीनियरिंग के क्षेत्र में प्रयागराज में कई कॉलेज हैं, लेकिन साल 1961 में बने एमएनएनआईटी कॉलेज की अलग ही बात है. कॉलेज की सबसे खास बात है कि यहां पढ़ाई करने वाले छात्र-छात्राओं की पढ़ाई कंप्लीट होते ही 100 परसेंट प्लेसमेंट मिलता है. कॉलेज कैंपस में एक अलग से जॉब सेल बनाया गया है, जहां पर कंपनियां आकर स्टूडेंट्स का इंटरव्यू करती हैं और बच्चों की पढ़ाई और ट्रेड के हिसाब से उनको जॉब मुहैया कराती हैं.

संस्थान में एक ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट विभाग बना हुआ है. संस्थान के निदेशक प्रोफेसर आरएस वर्मा समय-समय पर बच्चों की पढ़ाई की गुणवत्ता की जांच भी करते हैं और बच्चों के उज्जवल भविष्य के लिए कॉलेज की तरफ से सेवाएं भी पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को प्रदान करते हैं.

बता दें कि एमएनआईटी में इस बार प्लेसमेंट बहुत बेहतर रहा है और देश भर के एनआईटी-एमएनआईटी ने प्लेसमेंट में दूसरे और आईआईटी सहित सभी कॉलेजों में सातवां स्थान प्राप्त किया है.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

कुछ दिनों पहले ही जारी किए गए एनआईआरएएफ रैंकिंग के मुताबिक, प्लेसमेंट उच्च अध्ययन में एमएनआईटी को बेहतर स्थान मिला है. यही नहीं, एमएनआईटी ने एनआईआरएफ के डाटा 2023 के अनुसार, देशभर के एनआईटी के बीच अधिक प्लेसमेंट का ऑफर प्राप्त किया है, जिसमें कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के स्टूडेंट पृथ्वी को विशेष रूप से एयरटेल नेटवर्क कंपनी से एक करोड़ 35 लाख रुपए का सबसे अधिक अंतरराष्ट्रीय ऑफर मिला है.

कॉलेज ने जारी किया सूचना

प्रयागराज के एमएनआईटी कॉलेज की ओर से यह सूचना जारी किया गया कि 82.63 लाख प्रति वर्ष का उच्चतम अनुसार 380 से अधिक मल्टीनेशनल घरेलू पैकेज छात्र-छात्राओं ने प्राप्त किया है. दूसरी तरफ एनआईटी के कई छात्र-छात्राओं को अंतर्राष्ट्रीय ऑफर मिला है. स्टूडेंट को 11 सौ से अधिक प्लेसमेंट अवसर उनको मिल सकते हैं. इसने ऑनलाइन आईटी कॉलेज, मैकेनिकल इंजीनियर छात्र काफी संख्या में दिए हैं. यही नहीं, एमएनआईटी कॉलेज में पढ़ने वाले अंकित कुशवाहा को डॉयचे बैंक प्रतिभाशाली 382 विद्यार्थियों को 20 बर्लिन जर्मनी से 55 लाख हर साल लाख प्रति वर्ष से अधिक 114 का ऑफर मिला है.

बता दें कि एमएनआईटी 3000000 प्रति वर्ष से अधिक 37 छात्रों को दिए जाने वाले औसत 4000000 प्रतिभा से अधिक और 33 पैकेज में अट्ठारह प्रतिशत से अधिक छात्र-छात्राओं को 50 लाख प्रतिवर्ष वृद्धि दर्ज की गई है. अब यह औसत अधिक के पैकेज की पेशकश की गई है.

ADVERTISEMENT

इस डिपार्टमेंट के स्टूडेंट हुए सेलेक्ट

प्रयागराज तेलियरगंज में बने में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं ने प्लेसमेंट के मामले में एक रिकॉर्ड कायम किया है. इसमें बीटेक स्नातक ने किसी भी बीई में प्रवेश लेकर अपनी नौकरी को सुरक्षित किया है तो वहीं एमएनआईटी की तकनीकी शाखा भविष्य में नौकरी की अपार संभावनाओं की पुष्टि भी करता है.

एनआईआरएफ रैंकिंग 2023 के मुताबिक, एमएनआईटी पूरे भारत के सभी एनआईटी कॉलेजों में दूसरा स्थान बना रखा है, जिसमें कॉलेज के प्लेसमेंट के मामले में तीसरे स्थान पर अपनी जगह बनाई है. 100 परसेंट जॉब के मामले में एमएनएनआईटी कॉलेज विगत कई वर्षों से बेहतर प्लेसमेंट छात्र-छात्राओं को दे रहा है.

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT