प्रयागराज: हिंसा के आरोपी का घर गिराने के बाद अब आगे क्या? DM, SSP ने बताया ऐक्शन प्लान

प्रयागराज: हिंसा के आरोपी का घर गिराने के बाद अब आगे क्या? DM, SSP ने बताया ऐक्शन प्लान
फोटो: पंकज श्रीवास्तव

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में शुक्रवार को नमाज के बाद हुई हिंसा को लेकर प्रदेश सरकार के साथ-साथ प्रयागराज जिला प्रशासन और पुलिस भी सख्त है. जिला प्रशासन रविवार को ही हिंसा के आरोपी जावेद अहमद उर्फ जावेद पंप का घर जमींदोज कर चुका है. इस बीच जिला प्रशासन और पुलिस ने क्या कदम उठाए हैं और आगे क्या कुछ कार्रवाई की जाएगी, इसको लेकर यूपी तक ने प्रयागराज के जिलाधिकारी संजय खत्री और एसएसपी अजय कुमार से खास बातचीत की है.

डीएम संजय खत्री ने कहा, "पिछले शुक्रवार हुई हिंसा में जो लोग थे, सबके वीडियो हैं. सबको चिह्नित किया गया है. लोगों को डर है की उनके खिलाफ कारवाई हो सकती है, पर हमने इमामों के बताया है कि किसी निर्दोष पर कारवाई नहीं की जाएगी. डीएम ने कहा कि जो संवेदनशील क्षेत्र हैं वहां की मैपिंग की गई है, वीडियो कैमरा लगाए हैं और लगातार पैदल मार्च भी किया जा रहा है.

अहम बिंदु

एसएसपी अजय कुमार ने हमें बताया, "तमाम वीडियो हमारे सामने आए हैं, जिनमें चेहरे साफ दिख रहे हैं. उन्हें कतई बख्शा नहीं जाएगा. पोस्टर बनाए गए हैं, सड़कों पर लगेंगे और सोशल मीडिया पर भी डाले जाएंगे. कोशिश है कि आज यानी बुधवार को पोस्टर जारी कर दिए जाएं. उनमें उपद्रवी साफ गाड़ियों को तोड़ते और पत्थर मारते दिखाई पड़ रहे हैं."

एसएसपी ने कहा- निर्दोष न डरें

एसएसपी अजय कुमार ने कहा, "जो इसमें शामिल नहीं रहा है, वह डरे नहीं. पर जो शामिल हैं उनके खिलाफ वॉरंट भी जारी कराया जा रहा है और उनके घरों को कुर्की भी कराई जाएगी. इससे अच्छा है कि वे खुद ही पुलिस के सामने आ जाएं. जिन लोगों ने छोटे-छोटे बच्चों को आगे करके यह हिंसा की है, उनके खिलाफ कोई माफी नहीं है."

इससे पहले प्रयागराज पुलिस ने दावा करते हुए कहा था, "साजिशकर्ताओं ने नाबालिगों को सामने लाकर बवाल करवाया था. उन्हें बरगलाकर पथराव कराया गया था. इन लड़कों को आरोपित करने से पहले हर तथ्य की जांच की जा रही है. केवल मौजूदगी के आधार पर इन लड़कों को आरोपी नहीं बनाया जाएगा."

प्रयागराज: हिंसा के आरोपी का घर गिराने के बाद अब आगे क्या? DM, SSP ने बताया ऐक्शन प्लान
प्रयागराज पुलिस ने अफवाहों की सूचना इन नबंरों पर देने के लिए कहा, साथ ही दी ये चेतावनी

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in