window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

संभल: आग लगने के बाद समय पर नहीं पहुंची दमकल की गाड़ियां, तो बुल्डोजर आया एक्शन में, बना हीरो!

अभिनव माथुर

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news
Sambhal News: उत्तर प्रदेश के संभल में बुधवार रात को भीषण अग्निकांड की घटना सामने आई. यहां केंद्र सरकार की जल जीवन मिशन योजना के तहत टंकी की लाइन बिछाने के लिए लाए गए पाइपों में अचानक आग लग गई. प्लास्टिक पाइप के मंडलों में लगी हुई आग ने कुछ ही देर में विकराल रूप लिया, तो शहर के चारों तरफ से आसमान में काला धुआं दिखाई देने लगा और लोग घटनास्थल की तरफ दौड़ने लगे. घटना की जानकारी मिलने पर सदर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची, तो मौके से भीड़ को हटाने के प्रयास शुरू हुए. वहीं, आग बुझाने के लिए आसपास के इलाके से बुल्डोजर बुलाने के साथ ही दमकल विभाग को जानकारी दी गई. जहां 2 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग बुझाने में ‘बुल्डोजर हीरो साबित’ हुआ. बता दें कि बुल्डोजर ने आसपास के इलाके में पड़ी हुई मिट्टी को उठाकर आग पर डाला, जिससे आग पर काबू पाया गया, तो वहीं फायर ब्रिगेड ने भी काबू पाने में मशक्कत की.

बुल्डोजर ने किया कमाल!

देश और प्रदेश में अभी तक माफियाओं, अपराधियों के मकानों और अवैध अतिक्रमणों को ध्वस्त करने के लिए बुल्डोजर जाना जाता रहा है, लेकिन बुधवार रात को संभल जिले में हुए भीषण अग्निकांड में बुल्डोजर आग के विकराल रूप पर काबू पाने में हीरो साबित हुआ. दरअसल बुधवार शाम 7 बजे सदर कोतवाली इलाके में हसनपुर मुंजबता रोड पर स्थित प्लॉट में केंद्र सरकार की जल जीवन मिशन योजना के तहत टंकी की पाइप लाइन के प्लास्टिक पाइप के मंडलों में अचानक आग लग गई. आसपास के लोगों ने आग देखकर शोर मचाया, लेकिन कुछ ही मिनट में प्लास्टिक पाइप के बंडल की आग ने भीषण और विकराल रूप ले लिया और आसमान में आग की ऊंची लपटें उठने लगीं. आसमान में आग की लपटें और चारों तरफ काले धुएं का गुबार देखकर आसपास के इलाके के लोग घटनास्थल की तरफ दौड़ पड़े, लेकिन इसी बीच घटनास्थल के पास में मौजूद एक घर के पिछले हिस्से को भी आग ने अपनी चपेट में ले लिया, जिसके बाद स्थानीय लोगों ने तुरंत ही घर के अंदर मौजूद लोगों को बाहर निकाल कर मकान को खाली करवाया.

बुल्डोजर की मदद से आग पर डाली गई मिट्टी

भीषण अग्निकांड की जानकारी मिलने पर सदर कोतवाली पुलिस भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंची और भीड़ को घटनास्थल से हटाने के लिए प्रयास शुरू किए, जिसके बाद स्थानीय लोगों ने फायर स्टेशन को आग लगने की जानकारी दी लेकिन काफी देर तक भी दमकल की गाड़ी मौके पर नहीं पहुंची. वहीं इसी बीच घटनास्थल के पास में पड़े हुए प्लास्टिक पाइप के बंडल को हटाने के लिए बुल्डोजर को बुलवाया गया तो तीन जेसीबी मशीन घटनास्थल पर पहुंच गईं. जिसके बाद पहले क्रेन की मदद से प्लास्टिक पाइप के बंडलों को हटाया गया. इसके बाद दमकल की गाड़ियां जब मौके पर नहीं पहुंची, तो दोनों बुल्डोजर ने आग पर काबू पाने के लिए कार्रवाई शुरू की. घटनास्थल के आसपास पड़ी हुई मिट्टी को उठाकर जेसीबी मशीनों ने आग पर डाला.

पुलिस घटना की जांच में जुटी

काफी देर तक बुल्डोजर की मदद से इसी तरह आग पर काबू पाने की कोशिश की गई, तो करीब 1 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद भीषण आग पर काबू पाया जाने लगा. इस बीच दमकल की गाड़ियां भी मौके पर पहुंच गईं. जहां दमकल कर्मचारियों ने भी आग पर काबू पाया. वहीं घटनास्थल के पास में मौजूद मकान की दीवारों पर भी दमकल कर्मचारियों ने पानी डालकर दीवारों को ठंडा किया. दूसरी तरफ मकान मालिक इस घटना से आक्रोशित है और अब प्लॉट में टंकी के पाइप डालने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के साथी नुकसान की भरपाई कराने की मांग कर रहा है. बता दें कि सदर कोतवाली पुलिस प्लास्टिक के पाइप में आग लगने का कारण तलाशने में जुटी हुई है और इस मामले को लेकर गहनता के साथ जांच पड़ताल कर रही है.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

follow whatsapp

ADVERTISEMENT