window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

बस्ती में ट्रांसफॉर्मर को लग रही गर्मी! उसे नहलाया जा रहा पानी से, दी जा रही पंखे की हवा

संतोष सिंह

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Basti News: वो कहते हैं न कि यह दुनिया आलम-ए-मुमकिनात है, मतलब इस दुनिया में सब कुछ मुमकिन है. यहां आपको वो सब देखने को मिल जाता है, जिसकी आपने कल्पना भी न की हो. इसी कड़ी में ताजा मामला उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले से सामने आया है. यहां इंसानों का तो भीषण गर्मी से हाल बेहाल है, मगर साथ ही में यहां ‘ट्रांसफॉर्मर को भी गर्मी लग रही है.’ सनद रहे इसी ट्रांसफॉर्मर के कारण लोगों के घर के पंखे, ऐसी-कूलर चलते हैं. मगर यह गर्मी का ही सितम है कि ट्रांसफॉर्मर भी इसके सामने हार मान गया है. आपको बता दें कि यहां ट्रांसफॉर्मर को पानी से नहलाया जा रहा है और पंखे से हवा दी जा रही है. ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि ट्रांसफॉर्मर ठंडा रहे और बिजली सप्लाई बाधित ना हो. वहीं, विद्युत कर्मियों द्वारा ट्रांसफॉर्मर को नहलाने और पंखे से हवा देने का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है.

गर्मी बढ़ने से ट्रांसफॉर्मर काम करना बंद कर देता है

दरअसल, यह मामला बस्ती स्थित कलवारी विद्युत उपकेंद्र का है. खबर के अनुसार, जब पारा 46 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचता है तो ट्रांसफॉर्मर गर्म होकर काम करना बंद कर देता है. इसको ठंडा करने के लिए वहां तैनात विधुत कर्मियों ने गजब की तकनीक अपनाई है. तकनीक यह है कि पाइप लगाकर ट्रांसफॉर्मर को जमकर नहलाया जा रहा है. इतना ही नहीं बकायदा पंखा लगा कर ट्रांसफॉर्मर के तापमान को कम किया गया तब जा कर विद्युत सप्लाई शुरू हो सकी.

लो वोल्टेज की समस्या से लोग परेशान

दरअसल, भीषण गर्मी में बिजली की खपत बढ़ जाती है. काफी लोग कटिया कनेक्शन से एसी, कूलर चलाते हैं, जिसकी वजह से लो वोल्टेज की समस्याएं भी कई इलाकों में देखने को मिलती हैं. पुरानी बस्ती के नरहरिया में बीते एक महीने से लो वोल्टेज की समस्या से लोग परेशान हैं. लोग ट्रांसफॉर्मर की कैपेसिटी बढ़ाने की मांग कर रहे हैं, लेकिन विद्युत विभाग कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

दुकानदार ने बयां किया अपना दर्द

एक दुकानदार ने अपना दर्द बयान करते हुए कहा कि ‘वोल्टेज इतना कम है कि पंखा तक ठीक ने नहीं चल रहा. फ्रिज में कोल्ड्रिंक, पानी की बोतल रखी है लेकिन ठंडा ही नहीं हो रही. घर पर बच्चे भीषण गर्मी की वजह से परेशान हैं. आए दिन बीमार हो जाते हैं, कई बार लो वोल्टेज की शिकायत की गई लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है.’

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT