कारोबारी ने फर्नीचर के पैसे मांगे तो SDM ने चलवा दिया बुल्डोजर, जांच के बाद हुए सस्पेंड

कारोबारी ने फर्नीचर के पैसे मांगे तो SDM ने चलवा दिया बुल्डोजर, जांच के बाद हुए सस्पेंड
फोटो कोलाज: यूपी तक

Moradabad News: मुरादाबाद में बुल्डोजर एक्शन का दुरुपयोग करने का आरोप एसडीएस घनश्याम वर्मा पर भारी पड़ा है. एक फर्नीचर कारोबारी की शिकायत के बाद जांच में दोषी पाए जाने पर एसडीएम घनश्याम वर्मा को सस्पेंड कर दिया गया है. एसडीएम पर फर्जी बुल्डोजर एक्शन का आरोप लगा है. आरोप के मुताबिक उन्होंने एक कारोबारी के घर पर बुल्डोजर चलवा दिया था.

क्या है मामला?

आपको बता दें कि एसडीएम घनश्याम वर्मा मुरादाबाद के बिलारी में तैनात थे. आरोप है कि फर्नीचर कारोबारी जाहिद अहमद ने एसडीएम घनश्याम वर्मा को 2 लाख 67 हजार रुपये के फर्नीचर दिए थे. ये फर्नीचर एसडीएम और उनकी डिप्टी जेलर बेटी के लिए थे. आरोप के मुताबिक, जब कारोबारी ने फर्नीचर के पैसे मांगे तो एसडीएम ने 12 जुलाई को उनके घर पर बुल्डोजर चलवा दिया.

इसके बाद कारोबारी ने इसकी शिकायत डीएम और कमिश्नर से कर दी. डीएम ने तब बताया था कि एसडीएम के खिलाफ शिकायत मिली है और जांच के आदेश दिए गए हैं. डीएम के मुताबिक, एसडीएम ने तब यब जानकारी दी थी कि कारोबारी ने तालाब पर कब्जा किया है, इसलिए बुल्डोजर चलाया गया.

अहम बिंदु

जब मामले में जांच शुरू हुई तो मुरादाबाद जिला अधिकारी शैलेंद्र कुमार सिंह ने घनश्याम वर्मा को जिला मुख्यालय अटैच कर दिया था. जांच के मुताबिक जिस फर्नीचर कारोबारी के मकान पर एसडीएम ने बुल्डोजर चलाया था वह बिलारी की नगर पालिका के इलाके में आता है, जिस पर एसडीएम बिलारी का बुल्डोजर चलाने का अधिकार नहीं है.

अब जांच में दोषी पाए जाने के बाद एसडीएम घनश्याम वर्मा को निलंबित कर दिया गया है. इस पूरे प्रकरण की जांच कर कमिश्नर एके सिंह ने शासन को रिपोर्ट भेजी थी और एसडीएम के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी. इसके बाद 3 अगस्त मंगलवार को एसडीएम बिलारी घनश्याम वर्मा को निलंबित कर दिया गया.

(एएनआई के इनपुट्स के साथ)

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in