बलरामपुर: घर से निकला बच्चा तभी पेड़ के पीछे छिपे तेंदुए ने किया हमला, मासूम की हुई मौत

बलरामपुर: घर से निकला बच्चा तभी पेड़ के पीछे छिपे तेंदुए ने किया हमला, मासूम की हुई मौत
फोटो: सुजीत कुमार

Balrampur News: उत्तर प्रदेश के बलरामपुर में तेंदुए का आतंक कम होने का नाम नहीं ले रहा है. बीती रात तेंदुए ने 8 साल के बच्चे पर हमला कर दिया. हमले में बच्चे की मौत हो गई. बच्चे की मौत के बाद जहां परिजनों में कोहराम मच गया है तो वहीं इलाके में दहशत फैल गई है.

ये है मामला

बता दें कि यह पूरा मामला जिले के सोहेलवा वन्य क्षेत्र के मजगवा गांव से सामने आया है. मिली जानकारी के अनुसार, बच्चा घर के बाहर निकला था. इसी दौरान तेंदुआ पेड़ों के पीछे छिपा बैठा था. मौका देखकर तेंदुए ने बच्चे पर हमला कर दिया और उसे उठाकर गन्ने के खेत में ले जाने लगा. बच्चे के रोने की आवाज सुनकर फौरन घर वाले बाहर आए लेकिन तब तक तेंदुआ बच्चे को अपना शिकार बना चुका था.

शव को छोड़कर भागा

तेंदुए को देखते ही गांव वालों ने शोर मचाना शुरू कर दिया जिससे तेंदुआ बच्चे का शव छोड़कर भाग निकला. मामले की जानकारी फौरन पुलिस को दी गई। पुलिस वन विभाग की टीम को लेकर मौके पर पहुंची. पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. मौके पर पहुची पुलिस और वन विभाग की टीम जांच में जुट गई है.

इस पूरे मामले पर डीएफओ डॉ. एम सेम मारन ने बताया कि ‘’शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज कर तेंदुए की तलाश में टीम लगाई जा रही है.

2 माह पूर्व भी तेंदुए के हमले में किशोर की हुई थी मौत

आपको बता दें कि 2 महीने पहले ही बिशुनपुर कोडर में एक किशोर को तेंदुए ने अपना शिकार बना दिया था. किशोर के गले और कमर पर तेंदुए के पंजे के निशान थे.

डीएफओ ने ग्रामीणों से की अपील

डीएफओ ने ग्रामीणों से अपील करते हुए कहा है, रात के समय अपने बच्चों को घर से बिलकुल अकेला न निकलने दें और अपने घरों के आस-पास रोशनी रखे. उन्होंने आगे कहा था कि, जब भी घर से बाहर निकले तो झुंड में निकले. जंगल के किनारे बसे गांवों में तेंदुए की तलाश के लिए ड्रोन केमरें लगाए जाएंगे जिससे तेंदुए के हमलो को रोका जा सके.

बलरामपुर: घर से निकला बच्चा तभी पेड़ के पीछे छिपे तेंदुए ने किया हमला, मासूम की हुई मौत
बलरामपुर: 17 साल पहले हुए सांप्रदायिक दंगे में 41 दोषी करार, 31 को सुनाई जाएगी सजा

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in