window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

स्कूल के फर्जी इंस्टाग्राम आईडी से छात्राओं के एडिटेड अश्लील वीडियो वायरल, प्रिंसिपल ने बताईं ये बातें

रंजय सिंह

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में नाबालिग छात्राओं के एडिटेड अश्लील वीडियो वायरल करने का मामला सामने आया है. वायरल वीडियो को इंस्टाग्राम पर पोस्ट किया गया था. हैरानी की बात ये है कि शहर के एक मशहूर पब्लिक स्कूल के नाम पर फर्जी इंस्टाग्राम आईडी बनाई गई और इसी स्कूल की पढ़ने वाली नाबालिग छात्राओं की तस्वीरों को एडिट करके अश्लील वीडियो बनाया गया.

इस फर्जी आईडी के नाम से जब स्कूल की नाबालिग छात्राओं के अश्लील वीडियो वायरल होने लगे तब स्कूल की ही किसी छात्रा ने इंस्टाग्राम पर इसको देखकर उसने अन्य पीड़ित छात्राओं को इसकी जानकारी दी. छात्राएं यह जानकर ही दहशत में आ गईं. इसके बाद दो छात्राओं ने स्कूल के प्रिंसिपल को पूरी जानकारी दी. इन छात्राओं ने अपने परिजनों को भी इसकी जानकारी दी थी, जबकि कई छात्राओं ने डर के मारे अपने परिजनों को कुछ भी नहीं बताया.

इस मामले को संज्ञान में लेते हुए स्कूल प्रशासन ने अपनी तरफ से शहर के पनकी थाने में एफआईआर दर्ज कराई. स्कूल के प्रिंसिपल ने बताया कि हमसे कुछ छात्राओं ने इसकी शिकायत की थी. ये 8वीं और 9वीं की छात्राएं हैं. यह किसने किया है, पता नहीं चल पा रहा है लेकिन जिसने भी किया है बहुत गलत किया है. हम उसको सजा दिलाने के लिए हर कदम उठाएंगे .

उन्होंने आगे बताया कि हमने छात्रों को विश्वास दिलाया है कि जब तुमने कुछ गलत किया नहीं, तुम्हारी फोटो को एडिट करके जिसने किया है उसे पर कार्रवाई होगी तो छात्राएं रेगुलर स्कूल आ रही हैं. अब देखते हैं पुलिस कितनी जल्दी जांच करके आरोपी को सामने लाती है.

पुलिस ने क्या बताया?

वहीं, इस मामले में पनकी थाने के थाना इंचार्ज रविंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि यह मामला लगभग 3 दिन पुराना है. पुलिस की साइबर सेल इसकी जांच कर रही है. अभी तक कुछ पता नहीं चल पाया है कि नाबालिक छात्रों के फोटो किसने और कहां से प्राप्त किए और कैसे इसकी रियल बनाकर इंस्टाग्राम पर वायरल किया.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

इस मामले में एसीपी पनकी का कहना है कि यह बहुत गंभीर बात है, बहुत जल्द आरोपी को सामने लाएंगे, वैसे इस मामले में इस संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता कि छात्राओं का कोई जानने वाला ही इस तरह की हरकत कर बैठा हो.

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT