गोरखपुर: कैंसर से हुई थी पत्नी की मौत, खुद भी गवां चुका था एक पैर, बेटियों संग दे दी जान

उत्तर प्रदेश पुलिस (सांकेतिक तस्वीर)
उत्तर प्रदेश पुलिस (सांकेतिक तस्वीर)फोटो: यूपी तक

Gorakhpur News: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से हृदयविदारक घटना सामने आई है. यहां एक ही परिवार के तीन सदस्यों ने कथित तौर पर आत्महत्या की है. घटना के सामने आने के बाद से ही क्षेत्र में सनसनी फैल गई है. मृतकों में 2 लड़कियां भी शामिल हैं.

अहम बिंदु

दरअसल गोरखपुर के घोषीपुरवा में एक पिता और उसकी दो बेटियों का शव फंदे से लटका मिला है. जैसी ही घटना की जानकारी सामने आई हर कोई हैरान रह गया. बताया जा रहा है कि परिवार ने आर्थिक तंगी और कर्ज से परेशान होकर ये कदम उठाया है. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

कैंसर के इलाज ने किया तंगहाल

बताया जा रहा है कि म़तक की पत्नी की 2 साल पहले कैंसर से मौत हो गई थी. कैसर के इलाज में परिवार ने काफी पैसा खर्च कर दिया लेकिन पत्नी बच नहीं सकी. इसके बाद परिवार पर एक और दुखों का पहाड़ टूट पड़ा. पत्नी की मौत के बाद मृतक का पैर ट्रेन हादसे में कट गया. उसके इलाज में भी काफी पैसा खर्च हुआ जिसने परिवार को आर्थिक तौर पर तोड़ कर रख दिया. बताया जा रहा है कि मृतक ने अपनी 2 बेटियों की परवरिश करने और परिवार चलाने के लिए सिलाई का काम भी किया.

ऐसे हुआ मामले का खुलासा

मिली जानकारी के अनुसार मृतक के परिवार में मृतक, उसकी दो बेटियां और मृतक के पिता रहते हैं. सुबह जैसे ही मृतक के पिता ने दरवाजा खोला तो अलग-अलग कमरों में उन्हें उनके बेटे और पोतियों के शव फंदे से लटके मिले. उन्होंने फौरन घटना की जानकारी आसपड़ोस के लोगों को दी. पुलिस को सूचना दी गई. फोरेंसिक टीम के साथ पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने सभी पहलुओं की जांच की.

इस पूरे मामले पर मृतक जितेंद्र के पिता ने कहा है कि, जैसे ही मैंने अंदर जाकर देखा तो अलग-अलग कमरे में बेटा जितेंद और मेरी पोती 16 साल की मान्या और 14 साल की मानवी का शव पंखे से लटक रहा था. हमने घटना की जानकारी फौरन शाहपुर थाना पुलिस को दी.

मामले की सूचना मिलते ही एसएसपी डॉ गौरव ग्रोवर, एसपी सिटी कृष्ण कुमार बिश्नोई, प्रभारी निरीक्षक थाना शाहपुर रणधीर मिश्रा, फोरेंसिक टीम को लेकर मौके पर पहुंचे और मामले की जांच की.

"घटना से जुड़े सभी पहलुओं की जांच चल रही है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मामला साफ होगा. परिवार और उनके पिता से बातचीत में आर्थिक तंगी और कर्ज में डूबे होने की बात सामने आ रही है. फोरेंसिक टीम और पुलिस जांच कर रही है. लाश को पोस्‍टमार्टम के लिए भेजा गया है."

एसएसपी डॉ. गौरव ग्रोवर ने बताया

उत्तर प्रदेश पुलिस (सांकेतिक तस्वीर)
गोरखपुर मे डरा रहा है डेंगू, मरीजों की संख्या 200 के पार, प्रशासन ने किया ये दावा

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in