window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

मुख्तार के बेटे अब्बास को कासगंज से लाया गया गाजीपुर जेल, जानें क्या है इसकी वजह?

विनय कुमार सिंह

ADVERTISEMENT

Abbas Ansari
Abbas Ansari
social share
google news

Abbas Anasi News: माफिया मुख्तार अंसारी के विधायक बेटे अब्बास अंसारी को आज यानी रविवार को सुबह लगभग साढ़े चार बजे कासगंज जेल से गाजीपुर जेल लाया गया. प्राप्त सूचना के अनुसार, सपा समर्थित सुभासपा से मऊ विधायक अब्बास अंसारी को सुप्रीम कोर्ट में दाखिल उनकी एक याचिका पर न्यायमूर्ति सूर्यकांत की अध्यक्षता वाली बेंच ने पिता मुख्तार अंसारी की प्रार्थना सभा के लिए बेल दी है. सूचना के अनुसार, आज अब्बास गाजीपुर जेल में ही रहेंगे और कल सुबह 9 बजे उन्हें उनके पैतृक आवास मोहम्दाबाद फाटक ले जाया जाएगा, जहां शाम 6 बजे तक वे विभिन्न धार्मिक/दुआखानी कार्यक्रमों में भाग लेंगे. इस बीच उनकी सुरक्षा का भी इंतजाम पुलिस को रखना रहेगा.

मऊ सदर सीट से विधायक अब्बास अंसारी 10, 11 और 12 जून को अपने पिता मुख्तार अंसारी की प्रार्थना सभा और अन्य फातिहा कार्यक्रमों में शामिल होंगे. इस बीच वे उनकी कब्र पर भी फातिहा पढ़ने जा सकते हैं. सुप्रीम कोर्ट के दिशा निर्देशों के क्रम में उनके साथ घर के चिह्नित सदस्य और  पुलिस की सुरक्षा भी रहेगी. 

 

 

बताते चलें कि अभी हाल में ही अब्बास अंसारी के चाचा और सपा प्रत्याशी के तौर पर लोकसभा चुनाव में जीत कर गाजीपुर से सांसद बने अफजाल अंसारी और अन्य परिजनों से भी उनकी मुलाकात होगी. सूचना के अनुसार, सुबह 9 से 6 बजे तक अब्बास इन दिनों में सुप्रीम कोर्ट की तय गाइड लाइन के अनुसार गाजीपुर कारागार से मोहम्दाबाद स्थित पैतृक घर ले जाया जाएगा.

मगर उसके बाद रात वह गाजीपुर जिला जेल में ही बिताएंगे और फिर 13 जून को उन्हें वापस कासगंज जेल शिफ्ट कर दिया जाएगा. इससे  पहले अब्बास अंसारी को तीन दिनों के लिए ईद से पहले 10 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट से मिली पैरोल पर ही मोहम्दाबाद पैतृक आवास पर पिता के फातिहा कार्यक्रम के लिए लाया गया था.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT