गोरखपुर में एक और वारदात, मनीष नाम के ही दूसरे युवक को पीटकर मार डाला

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

गोरखपुर के रामगढ़ताल थानाक्षेत्र में व्‍यापारी मनीष गुप्ता की मौत का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था कि 30 सितंबर की शाम 7 बजे इसी थाना क्षेत्र में एक और युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. इत्तेफाक देखिए कि इस बार भी मृतक का नाम मनीष है. दरअसल, रामगढ़ताल थानाक्षेत्र से 200 मीटर दूर देवरिया बाईपास के पास गुरुवार को रुपए के लेनदेन को लेकर बदमाशों ने वारदायनी मॉडल शॉप के वेटर मध्य प्रदेश के रीवा निवासी मनीष प्रजापति (25) की पीट-पीट-पीटकर हत्या कर दी. इस दौरान बीच-बचाव करने आए मनीष के साथी रघु को भी गंभीर चोटे आई हैं. ये पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है.

मॉडल शॉप के कर्मचारी मुन्‍ना लाल गुप्‍ता और रामजी जायसवाल ने बताया है कि पहले से कुछ लोग शराब पी रहे थे. इसी बीच शराब मांगने पर वेटर मनीष से विवाद हो गया. शराब पी रहे लोगों ने कॉल कर कुछ लोगों को बुलाया. इसके बाद 15 से 20 की संख्‍या में आए बदमाशों ने शॉप में तोड़फोड़ शुरू कर दी और इस वारदात में मनीष और रघु गंभीर रूप से घायल हो गए. उन्‍हें इलाज के लिए बीआरडी मेडिकल कॉलेज ले जाया गया, जहां मनीष की मौत हो गई.

घटना के चश्‍मदीद कुशीनगर के रहने वाले मंजीत तिवारी ने बताया कि वह मॉडल शॉप के सामने चाय पी रहे थे. इसी बीच अंदर मारपीट होने लगी. 15 से 20 की संख्‍या में आए बदमाशों ने कर्मचारियों के साथ मारपीट की. उन्होंने बताया कि वारदात को अंजाम देकर बदमाश वहां से फरार हो गए.

इस घटना के संबंध में पुलिस ने बताया,

“रुपए के लेनदेन को लेकर कुछ लोगों ने रामगढ़ताल थानाक्षेत्र स्थित एक मॉडल शॉप पर एक युवक के साथ मारपीट की. इसमें उसे गंभीर चोटे आईं. इसके बाद युवक को बीआरडी मेडिकल कॉलेज ले जाया गया, जहां उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई.”

सोनम कुमार, एसपी सिटी

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

मामले में गोरखपुर पुलिस ने ट्वीट कर बताया

पुलिस ने ट्वीट कर कहा, “थाना रामगढ़ताल में मॉडल शॉप की घटना में हत्या का अभियोग पंजीकृत किया गया है. घटना में शामिल एक अभियुक्त को पुलिस ने हिरासत में लिया है. शेष अभियुक्तों की भी शीघ्र गिरफ्तारी कर अभियुक्तों पर रासुका की कार्रवाई की जाएगी.”

ADVERTISEMENT

कानपुर के मनीष गुप्ता की संदिग्ध मौत: दोस्त का दावा, सीएम सिटी की तारीफ सुन आए थे गोरखपुर

ADVERTISEMENT

follow whatsapp

ADVERTISEMENT