ब्यूटी पार्लर चलाने वाली ने प्रेमी संग की पति की हत्या, दुल्हन सजाते-सजाते हुआ था प्यार

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में वकील कुलदीप रावत की हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा किया है. पुलिस ने वकील की पत्नी, उसके प्रेमी और एक साथी को हत्या करने के आरोप में गिरफ्तार किया है. पुलिस ने तीनों आरोपियों को जेल भेज दिया है.

आपको बता दें कि 5 सितंबर की रात को नगर कोतवाली क्षेत्र के नारे पुरवा गांव के पास वकील कुलदीप रावत की गला रेत कर हत्या कर दी गई थी. घटनास्थल पर मृतक का मोबाइल, हेलमेट और बाइक पड़ी मिली थी. मौके पर पहुंचे एसपी ने मामले की छानबीन की और दोषियों की गिरफ्तारी के लिए तीन टीमें गठित की थीं. भाई की तहरीर पर पुलिस ने मृतक के मोबाइल पर आए आखिरी फोन करने वाले के खिलाफ केस दर्ज किया था. घटना का थाना कोतवाली नगर पुलिस, सर्विलांस और स्वॉट टीम द्वारा 72 घंटों के भीतर खुलासा किया गया.

गिरफ्तार किए गए आरोपी मंटू वर्मा उर्फ विवेक, पंकज यादव और रीता उर्फ लक्ष्मी हैं. पुलिस ने मंटू के पास से घटना में इस्तेमाल किया गया चाकू बरामद किया है.

पुलिस पूछताछ में ये बात सामने आई

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

आरोपियों से पूछताछ और डिजिटल डेटा के एनालिसिस से पता चला है कि मृतक कुलदीप रावत का विवाह 7-8 साल पहले रीता उर्फ लक्ष्मी से हुआ था. इनका 4 वर्षीय एक बेटा भी है. मृतक कुलदीप की पत्नी आजाद नगर में पिछले 2 सालों से ब्यूटी पार्लर चला रही थी, जहां लक्ष्मी के साथ उसकी चचेरी ननद भी काम करती थी.

इस बीच लक्ष्मी का मंटू टेंट एंड लाइट हाऊस चलाने वाले मंटू उर्फ विवेक वर्मा से अवैध संबंध हो गया. मंटू के पास आने वाली बुकिंग में दुल्हन सजाने के लिए वह लक्ष्मी ब्यूटी पार्लर को ऑर्डर दिलवाने लग गया. इस तरह दोनों एक-दूसरे के काफी नजदीक आ गए थे.

कुलदीप ने तोड़ दिया था लक्ष्मी का फोन

ADVERTISEMENT

रोजाना पत्नी द्वारा मोबाइल पर लगातार बात करने को लेकर कुलदीप ने लक्ष्मी का मोबाइल छीनकर तोड़ दिया था, जिससे दोनों के बीच अनबन हुई थी.

लक्ष्मी ने की थी तलाक की पेशकश

ADVERTISEMENT

मंटू अब लक्ष्मी पर शादी का दबाव बनाने लग गया था. इसपर लक्ष्मी ने मंटू से कहा था कि पहले वह तलाक लेगी फिर शादी करेगी. इसके बाद, लक्ष्मी ने कुलदीप से तलाश की पेशकश की, जिसे उसने ठुकरा दिया था. तलाक लेने से मना करने पर मंटू ने कुलदीप को रास्ते से हटाने के लिए लक्ष्मी के साथ योजना बनाई. इस योजना में ब्यूटी पार्लर के बगल में मोबाइल की दुकान में काम करने वाले पंकज कुमार यादव को पैसे का लालच देकर शामिल किया.

तो ऐसे की गई कुलदीप की हत्या

योजनानुसार पंकज यादव ने नया नंबर लेकर कुलदीप से जमीन दिलाने और उसके बदले 3-4 लाख रुपए का कमीशन देने की बात कही. कुलदीप ने अपनी पत्नी लक्ष्मी से कहा कि मैं तुम्हें मोबाइल दिलाऊंगा, मुझे 3-4 लाख रुपए कमीशन मिलना है.

रात में कुलदीप के पास पंकज का फोन आया. इसके बाद पंकज बताए गए स्थान नारे का पुरवा, थाना कोतवाली नगर पर पहुंचा. इस दौरान अपना मोबाइल फोन बंद कर मंटू भी वहां पहुंच गया. मौके पर कुलदीप और पंकज बात कर रहे थे, तभी मंटू ने पीछे से कुलदीप के गले पर चाकू से वार कर दिया.

इस दौरान, कुलदीप ने मौके से भागने की कोशिश की लेकिन वह बाइक स्टार्ट नहीं कर पाया. पंकज और मंटू ने कुलदीप को बाइक से गिरा दिया और उसके मरने पर दोनों मौके से भाग गए. घटना के बाद मंटू ने लक्ष्मी को फोन कर बताया कि काम हो गया है.

अवैध संबंधों में बाधा बनने पर पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने पति कुलदीप की हत्या की थी. इस संबंध में पत्नी से शक के बिना पर पूछताछ की गई तो उसने सच बता दिया. तीन लोग गिरफ्तार हुए हैं, जिन्हें जेल भेजा जा रहा है.

यमुना प्रसाद, एसपी बाराबंकी

रिपोर्ट: सैयद रेहान मुस्तफा

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT