यौनवर्धक दवाएं खाकर दरिंदा बना हमीरपुर का ये शख्स, शादी के 7 दिन बाद पत्नी की हुई दर्दनाक मौत

ADVERTISEMENT

hamirpur news
hamirpur news
social share
google news

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले से दर्दनाक खबर सामने आई है. यहां 8 दिन पहले शादी करके ससुराल पहुंची नवविवाहिता को पति की हैवानियत का शिकार होना पड़ा. पति ने यौनवर्धक गोलियां खाकर पत्नी से संबंध बनाए (प्राकृतिक और अप्राकृतिक) और अपनी हवस के चक्कर में पत्नी को बुरी तरह से जख्मी कर दिया. हालत ज्यादा खराब होने पर पीड़िता को इलाज के लिए कानपुर में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. प्राइवेट अस्पताल के डॉक्टर ने नाम न लिखने की शर्त पर बताया कि पीड़िता की हालत गैंगरेप पीड़िता से भी बदतर थी. लड़की के भाई ने ससुरालियों के विरुद्ध तहरीर देने की बात कही है.

क्या है पूरा मामला?

यह मामला हमीरपुर मुख्यालय का है. यहां एक युवती की तीन फरवरी को उरई से बारात आई थी. युवती के मां-बाप नहीं है. भाई सरकारी कर्मचारी है, जिसने शादी की थी. 4 फरवरी को युवती विदा होकर अपनी ससुराल पहुंची थी. मृतिका की भाभी ने बताया कि सात फरवरी को वह अपने पति संग एक वैवाहिक कार्यक्रम में कानपुर गई हुई थी, तभी ननद के ससुरालीजनों का फोन आया, जिन्होंने यह आरोप लगाया कि उन लोगों ने युवती की बीमारी छिपाकर शादी की है, उसे उल्टियां हो रही हैं और तबीयत खराब है. 

भाभी के अनुसार, वह लोग कानपुर की शादी छोड़कर उसी दिन उरई पहुंच गए, जहां से ननद को लेकर सीधे कानपुर के एक प्राइवेट नर्सिंग होम में भर्ती कराया, जहां उसका इलाज हुआ, लेकिन आराम नहीं मिला. 

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

मृतिका की भाभी ने बताया की जब उसने ननद से जोर देकर पूछा तो उसने बताया कि पति ने उसके साथ यौनवर्धक गोलियां खाकर संबंध बनाए हैं, जिससे उसकी हालत बिगड़ी हैृ. इसके बाद लड़की को गायनेकोलॉजिस्ट को दिखाया गया. चेकअप के बाद गायनेकोलॉजिस्ट ने कहा कि युवती के साथ ऐसे संबंध बनाए गए हैं जैसे गैंगरेप किया गया हो. युवती को अंदरूनी जख्म हो गए थे. जिसकी वजह से इंफेक्शन फैल गया और 10 फरवरी को युवती की कानपुर में मौत हो गई. जिसका वहीं पर पोस्टमार्टम कराने के बाद सोमवार को शव घर पहुंचा तो कोहराम मच गया.

मृतक के भाई का कहना है कि वह ससुरालियों के विरुद्ध कोतवाली में तहरीर देगा. हमीरपुर थाने के इंस्पेक्टर अनूप सिंह ने बताया कि घटना स्थल उरई जिला जालौन है, इसलिए FIR उसी थाने में दर्ज होगी. अगर हमें एप्लिकेशन मिलती है तो हम उसे कार्रवाई के लिए उरई भेज देंगे. 
 

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT